भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने आज कहा कि आधार ब्योरे के दुरुपयोग को रेखांकित करने वाली खबर देने वाली पत्रकार को कथित सच्चाई सामने लाने के लिए परेशान किया जा रहा है और पूछा कि क्या देश के लोग किसी बनाना रिपब्लिक में रह रहे हैं. बनाना रिपब्लिक शब्द का इस्तेमाल ऐसे देश के लिए किया जाता है जो राजनीतिक रूप से अस्थिर है.

 

भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने ट्विटर पर लिखा, यह कैसा न्याय है? क्या केवल प्रतिशोध की राजनीति की जा रही है? यहां तक कि समाज और देश के लिए ईमानदारी से पेश आने वाली जनता को भी परेशान किया जा रहा है. सिन्हा अलग-अलग मुद्दों पर केंद्र सरकार और भाजपा नेतृत्व की आलोचना करते रहे हैं.

 

 

शत्रुघ्न सिन्हा ने घटना के सिलसिले में पत्रकार के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने को लेकर कड़ी प्रतिक्रिया देने के लिए एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया को बधाई भी दी और उम्मीद जतायी कि सरकार के सच्चे अधिकारी और खासकर उच्चतम न्यायालय संज्ञान लेकर त्वरित सुधारात्मक उपाय करेगा.

 

पटना साहिब के सांसद ने एक और ट्वीट में कहा, आधार में गड़बड़ी एवं उसके दुरुपयोग के बारे में कथित सच्चाई पेश करने के लिए पत्रकार को परेशान किया जा रहा है. क्या हम किसी बनाना रिपब्लिक में रह रहे हैं. गौरतलब है कि आधार जारी करने वाले भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) के एक अधिकारी की शिकायत पर दिल्ली पुलिस द्वारा दर्ज की गयी प्राथमिकी में ट्रिब्यून समाचार पत्र की उस पत्रकार का नाम भी शामिल है जिसने इस मामले का खुलासा अपनी खबर में किया. खबर में एक अरब से ज्यादा आधार कार्ड के आंकड़े कथित रूप से लीक होने की जानकारी दी गयी थी.

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *