बिहार का एक गांव है अधौरा। कैमुर जिले की पहाड़ी पर बसे इस गांव को लोग ‘कुंवारों के गांव’ के नाम से जानते हैं। इस गांव में आज तक मूलभूत सुविधाओं का अभाव है, जिससे गांव के युवकों की शादी नहीं हो रही है। पैसा देकर खरीदते हैं शादी के लिए लड़की…
– बिहार का एक गांव है जिसे कुंवारों का गांव के नाम से जाना जाता है।
– कैमुर जिले के में स्थित कैमुर की पहाड़ी पर बसे इस गांव में 200 से ज्यादा युवक कुंवारे हैं।
– जो संपन्न हैं वो बाहर से गरीब लड़कियों को खरीदकर उनसे शादी करते हैं।
– गांव के लोगों का कहना है कि ज्यादतर युवकों की मौत तो बिना शादी की ही यहां पर हो जाती है।
 मूलभूत सुविधाओं के अभाव के कारण नहीं होती है लड़कों की शादी
  कैमुर की पहाड़ी पर बसे अधौरा गांव में अभी तक कोई मूल भूत सुविधा नहीं पहुंची है।
–  करीब 20 किलोमीटर की चढ़ाई करने के बाद लोग गांव में प्रवेश करते हैं।
–  पहाड़ की समतली जमीन पर बसे इसे गांव में करीब 500 से ज्यादा लोग रहते हैं।
–  इसमें 200 से ज्यादा युवक की अभी तक शादी नहीं हुई है।
– जिस किसी की भी शादी हुई है वो भी बाजार से कोई गरीब लड़की को खरीद कर किया है।
– कहा जाता है कि गांव में सड़क, पानी, बिजली का घोर अभाव है, जिसके कारण कोई यहां अपनी बेटी का रिश्ता नहीं करना चाहता है।
– नेता चुनाव में वादे तो करते हैं पर सड़क का निर्माण नहीं करा पाते हैं।
– गांव के लोगों का कहना है कि गांव में आने के लिए पहाड़ चढ़ना पड़ता है।
–  इसी वजह से कोई भी अपनी बेटी की शादी नहीं करना चाहता है।
–  यही कारण है कि यहां काफी लोग कुंवारे हैं।
–  गांव में कुंवारे युवक आज भी आस लगाए बैठे हैं कि कोई रिश्ता लेकर आएगा।
–  इस आस में कितने कुंवारों की मौत हो चुकी है।
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *