राजद के साथ चुनावी तालमेल से आम आदमी पार्टी के इन्‍कार के बावजूद लालू प्रसाद यादव राष्ट्रीय स्तर पर भाजपा के खिलाफ महागठबंधन के लिए प्रयास करेंगे। उन्हें दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से परहेज नहीं है। लालू ने कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ दिए आपत्तिजनक बयान के लिए उन्‍हें मानसिक रूप से बीमार करार दिया।

भाजपा को हराने के लिए बनाएंगे महागठबंधन

लालू ने कहा कि भाजपा को हराने के लिए वे केजरीवाल को भी कांग्रेस के करीब लाने की कोशिश करेंगे। भाजपा के खिलाफ महागठबंधन बनाया जाएगा। लोकसभा चुनाव में मायावती, अखिलेश, ममता व केजरीवाल सब मिलकर नेता तय करेंगे।

कहा, राहुल के नेतृत्‍व में जीत पक्‍की

सोनिया गांधी के करीबी माने जाने वाले लालू को कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में राहुल गांधी की ताजपोशी से कोई ऐतराज नहीं है। उन्होंने कहा कि वह जैसे सोनिया को मानते हैं, अब उसी तरह राहुल को भी सम्मान देंगे।

लालू ने दावा किया कि राहुल के नेतृत्व में गुजरात में कांग्रेस की जीत पक्की है। कांग्रेस राष्ट्रीय स्तर पर भी अपनी पुरानी हैसियत को प्राप्त कर सकेगी। अध्यक्ष बनने के बाद राहुल और परिपक्व हो जाएंगे। नेहरू-गांधी खानदान का इतिहास बलिदान का रहा है। राहुल के नेतृत्व पर किसी को आपत्ति नहीं होगी।

भगवान राम को भी राजनीति में लाकर बदनाम कर रही भाजपा

राम मंदिर के मुद्दे पर राजद प्रमुख ने कहा कि भाजपा के लोग भगवान राम को भी राजनीति में लाकर बदनाम कर रहे हैं। योगी और सुब्रमण्यम स्वामी देश को गलत दिशा में ले जाना चाहते हैं। लालू ने उन्हें पाखंडी बताया और खुद को सच्चा कृष्णवंशी। लालू ने कहा कि राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट जो भी फैसला सुनाएगा, वह सबको मान्य होगा। मुस्लिम समाज भी इसके लिए तैयार है।

मणिशंकर को बताया मानसिक बीमार

कांग्रेस के निलंबित नेता मणिशंकर अय्यर के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर दिए गए आपत्तिजनक बयान को लेकर लालू ने कांग्रेस नेता की आलोचना की। उन्‍होंने मणिशंकर अय्यर को मानसिक तौर पर बीमार बताया है।

हालांकि, लालू ने इस बयान के लिए लालू ने इशारों-इशारों में पीएम मोदी को ही जिम्मेदार बताया। उन्होंने कहा कि देश में राजनीतिक मर्यादा, भाषा और व्याकरण को केवल एक व्यक्ति ने तार-तार किया है।

…और परिवारवाद के आरोप पर बोले ये बात

अपने ऊपर परिवारवाद के आरोपों पर लालू ने राजनीति के लिए उसे अच्छा बताया और कहा कि भाजपा को पहले अपना वंशवाद देखना चाहिए। नरेंद्र मोदी और योगी आदित्यनाथ का तो कोई वंश ही नहीं है। उनका वंश होता तो उसे भी टिकट मिलता।

उन्‍होंने सवाल किया कि यूपी चुनाव में राजनाथ सिंह के बेटे को भाजपा ने टिकट दिया था या नहीं? राम विलास पासवान का बेटा, भाई सब सांसद एवं मंत्री हैं। लालू ने तर्क दिया कि जज का बेटा जज हो रहा है, वकील का बेटा वकील, डॉक्टर का बेटा डॉक्टर हो रहा है तो नेताओं पर सवाल क्यों?

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *