BHAGALPUR Bihar Crime State TOP NEWS

कोर्ट में गवाही के दौरान रो पड़ी जयलश देवी, बेटे की सामने कर दी गई थी हत्या

बेटे हिमांशु की आरोपियों ने बंदूक, राइफल, रिवॉल्वर और खंती से मारकर हत्या कर दी है। कोर्ट में गवाही के दौरान जयलश देवी रो पड़ीं और इंसाफ की मांग की। कोर्ट के डॉक में खड़े गोकुल यादव पर जयलश देवी ने गोली मारने का आरोप लगाया। कजरैली थाने के चर्चित हिमांशु हत्याकांड में बुधवार को तीसरे प्रत्यक्षदर्शी की गवाही शुरू हुई। गुरुवार को भी जयलश देवी की गवाही होगी। कोर्ट में बचाव पक्ष की ओर से बहस में भाग ले रहे अधिवक्ता सिरुस लाल ने हिमांशु हत्याकांड के संबंध में 42 सवाल पूछे। जयलश देवी ने कुछ सवालों का रुककर तो कई के बेधड़क जवाब दिए। कोर्ट को जयलश ने हाथ में उभरे जख्म को भी दिखाया। कहा बड़े बेटे हिमांशु ने गांव के परमानंद यादव की पुत्री सोनी कुमारी से प्रेम-विवाह किया था। इसी को लेकर आरोपियों ने घर में घुसकर मारपीट की थी। मुझे भी गोली मारकर घायल कर दिया गया था। बेटे को भी पीटा गया। वह भागकर रामा की दुकान में घुस गया। आरोपियों ने बेटे की हत्या कर दी। अस्पताल पहुंचने पर बेटे को डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया था। उन्होंने कहा 14 दिनों तक अस्पताल में हम भर्ती रहे। आंख से जो देखे थे। एफआईआर में उसी बात को लिखा गया था। किसी ने सिखाया नहीं था। कोर्ट में खड़े 19 आरोपियों की जयलश ने पहचान की। एक आरोपी अजबलाल यादव की ओर से वकालतन हाजिरी दी गई थी। जयलश ने कहा उसे भी पहचानते हैं। कहा घर पर हमले के दौरान परमानंद यादव समेत अन्य आरोपी गर्भवती बहू को खींचकर ले गए थे, लेकिन आजतक उसका कुछ पता नहीं चला है। गुरुवार को भी अन्य आरोपियों की ओर से जयलश देवी का क्रॉस एग्जामिनेशन किया जाएगा। इसके पहले हिमांशु के पिता मीताराम यादव और चाचा शालीग्राम यादव की गवाही हो चुकी है। कोर्ट में सरकार की ओर से अपर लोक अभियोजक पवन कुमार ठाकुर ने बहस में भाग लिया। मालूम हो कि 5 जून, 2017 की शाम प्रेम विवाह करने पर पंचायत के निर्देश पर हिमांशु यादव की हत्या कर दी गई थी।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *