राज्यसभा सीटों के लिए मतदान से पहले गुजरात के कांग्रेस विधायकों में मची भगदड़ के बीच शुक्रवार शाम को पार्टी ने अपने 44 विधायकों को बेंगलुरू भेज दिया है, इन सभी को अहमदबाद हवाई अड्डे से भेजा गया।

इस मामले पर कांग्रेस विधायक शैलेश परमार ने कहा है कि भाजपा हमारे विधायकों को रुपयों का लालच दे रही है और ना मानने पर उन्हें धमकाया जा रहा है, फर्जी मुकदमों में फंसाने की कोशिश की जा रही है। इसी से बचने और भाजपा को अपने मंसूबों में कामयाब होने से रोकने के लिए हम 44 विधायक बेंगलुरू जा रहे हैं।

दरअसल, शंकर सिंह वाघेला के पिछले सप्‍ताह ही कांग्रेस छोड़ने के बाद से पिछले दो दिनों में ही छह कांग्रेसी विधायकों ने पार्टी का साथ छोड़ दिया और वे पाला बदलकर भाजपा में चले गए है।

कांग्रेस विधायकों के इस्तीफे ऐसे समय में आ रहे हैं जब गुजरात की तीन राज्यसभा सीटों के लिए आठ अगस्त को चुनाव होने वाले हैं और पार्टी ने एक सीट पर अपने कद्दावर नेता अहमद पटेल को उम्मीदवार बनाया है। कांग्रेस से विधायकों के इस तरह इस्तीफे दिए जाने से अहमद पटेल के चुनाव जीतने की संभावनाएं कम होती जा रही हैं।

गुजरात के इस राजनीतिक घटनाक्रम को लेकर राज्यसभा में शुक्रवार को कांग्रेस सदस्यों ने जमकर हंगामा किया। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य में पुलिस ने राज्यसभा के चुनावों को प्रभावित करने की खातिर पार्टी के एक विधायक का अपहरण कर लिया है। गुजरात में अगले महीने राज्यसभा के लिए चुनाव होना है। कांग्रेस की ओर से अहमद पटेल उम्मीदवार हैं। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी आठ अगस्त को होने वाले राज्यसभा चुनाव में बीजेपी के उम्मीदवार हैं।

माना जा रहा है कि कांग्रेस विधायकों को तोड़कर भाजपा अहमद पटेल का खेल बिगाड़ना चाहती है। अहमद पटेल का राज्यसभा का तीसरा कार्यकाल अगस्त में खत्म हो रहा है।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *