Delhi NATIONAL TOP NEWS

चौथी औद्योगिक क्रांति में भारत का योगदान चौंकाने वाला होगा: मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को फोर्थ इंडस्ट्रियल रिवॉल्यूशन सेंटर का उद्घाटन किया. इस मौके पर उन्होंने कहा कि चौथी औद्योगिक क्रांति में भारत का योगदान पूरे विश्व में चौंकाने वाला होगा. अलग-अलग तकनीकों के बीच सामंजस्य-समन्वय चौथी औद्योगिक क्रांति का आधार बन रहा है. ऐसी परिस्थितियों में सैन फ्रांसिस्को, टोक्यो और बीजिंग के बाद अब भारत में इस महत्वपूर्ण सेंटर का खुलना, भविष्य की असीम संभावनाओं के द्वार खोलता है.

पीएम मोदी ने कहा कि जब पहली औद्योगिक क्रांति हुई, तो भारत गुलाम था. जब दूसरी औद्योगिक क्रांति हुई, तो भी भारत गुलाम था. जब तीसरी औद्योगिक क्रांति हुई, तो भारत स्वतंत्रता के बाद मिली चुनौतियों से ही निपटने में संघर्ष कर रहा था. लेकिन अब 21वीं सदी का भारत बदल चुका है. मैं मानता हूं कि चौथी औद्योगिक क्रांति में भारत का योगदान, पूरे विश्व को चौंकाने वाला होगा.

पीएम ने कहा कि 2014 से पहले देश की 59 पंचायतें ऑप्टिकल फाइबर से जुड़ी थीं, आज 1 लाख से ज्यादा पंचायतों तक ऑप्टिकल फाइबर पहुंच चुका है. 2014 में देश में 83,000 कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) थे, आज 3 लाख CSC काम कर रहे हैं. देश के ग्रामीण इलाकों में सरकार 32,000 से ज्यादा वाईफाई हॉटस्पॉट मुहैया मुहैया कराने पर काम कर रही है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले 4.5 साल में हमारी सरकार ने चौथी औद्योगिक क्रांति के लिए भारत को तैयार करने के लिए कई महत्वपूर्ण पहल की हैं. आर्टीफीशियल इंटेलिजेंस, मशीन लर्निंग, ब्लॉक चेन, बिग डाटा और ऐसी तमाम नई तकनीकों में भारत के विकास को नई ऊंचाई  पर ले जाने, रोजगार के लाखों नए अवसर बनाने और देश के प्रत्येक व्यक्ति के जीवन को बेहतर बनाने की क्षमता है.

पीएम मोदी ने कहा कि हमारी विविधता, तेजी से उभरता बाजार और डिजिटल इन्फ्रास्ट्रक्चर भारत को रिसर्च और कार्यान्वयन का वैश्विक हब बनाने की क्षमता रखता है. भारत में होने वाले इनोवेशन का लाभ पूरी दुनिया और पूरी मानवता को मिलेगा.

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *