INTERNATIONAL Politics TOP NEWS

जब डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात के लिए ‘गिडगिड़ाने’ लगे उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन

पिछले माह अमेरिकी राष्‍ट्रपति द्वारा उत्तर कोरिया के साथ प्रस्‍तावित बैठक रद कर दी थी। जिसके बाद बाद इस बैठक के लिए उत्‍तर कोरियाई नेता किम जोंग उन घुटनों पर आ गए थे। वे किसी भी सूरत में ट्रंप से मुलाकात करना चाहते थे। ट्रंप के वकील रुडोल्‍फ गिलानी ने यह खुलासा किया है।

मई में उत्‍तर कोरिया ने अमेरिकी उपराष्‍ट्रपति माइक पेंस को ‘राजनीतिक पुतला’ बताया था और कहा कि यदि वार्ता असफल होती है तो वह अमेरिका के साथ आर-पार की लड़ाई के लिए भी तैयार है। इसके बाद ट्रंप ने किम जोंग उन के साथ प्रस्तावित बैठक को रद कर दिया था।

गिलानी ने कहा, ‘हमने कहा कि ऐसे हालात में हम यह बैठक नहीं कर सकते, इसके बाद किम जोंग-उन घुटनों के बल आ गए और वह इसके लिए ‘गिड़गिड़ाने लगे। यह ठीक वही स्थिति है, जिस स्थिति में आप किम जोंग उन को देखना चाहेंगे।’ उत्तर कोरिया की तरफ से गिलानी की इस टिप्पणी पर अभी तक कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है।

इजरायल में एक कॉन्फ्रेंस में गिलानी ने कहा कि ट्रंप की सख्‍ती के कारण ही उत्तर कोरिया ने मजबूर होकर अपना रुख़ बदला है। और उत्तर कोरिया की मैत्रीपूर्ण प्रतिक्रिया के बाद सिंगापुर में 12 जून को प्रस्तावित इस द्विपक्षीय बैठक की तैयारियां हो रही है। किम जोंग-उन के साथ सम्मेलन के संबंध में मंगलवार को डोनल्ड ट्रंप ने कहा कि योजनाएं ‘अच्छी तरह से आगे बढ़ रही हैं।’

 

बता दें कि सिंगापुर में सेंटोसा के रिसॉर्ट आइलैंड पर कैपेला होटल में अगले हफ्ते राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप व उत्‍तर कोरिया के किम जोंग उन की मुलाकात होगी। व्हाइट हाउस के अनुसार, ट्रंप व किम की मुलाकात 12 जून को सुबह नौ बजे तय है। बताया जा रहा है कि ट्रंप और किम की सुरक्षा के लिए सिंगापुर पुलिस के साथ-साथ गोरखा टुकड़ी भी तैनात की जाएगी।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *