जब रेलवे गैंगमैन का रूप धर एसटीएफ ने कुख्यात अपराधी कुमुदी को दबोचा

जब रेलवे गैंगमैन का रूप धर एसटीएफ ने कुख्यात अपराधी कुमुदी को दबोचा

12th March 2018 0 By Deepak Kumar

बिहार पुलिस के स्पेशल टास्क फोर्स(एसटीएफ) ने सेमापुर के बक्की कोल में छापामारी कर पचास हजार के इनामी अपराधी को गिरफ्तार कर लिया। एसटीएफ ने रेलवे गैंगमैन का रूप धारण कर कुख्यात अपराधी को गिरफ्तार किया।
बिहार एसटीएफ के आईजी कुन्दन कृष्णन को सूचना मिली थी कि गंगा के दियारे का कुख्यात अपराधी कुमुदी यादव कटिहार जिले के बरारी थाना क्षेत्र में छिपा हुआ है। सूचना के बाद आईजी के निर्देश पर एसटीएफ एसपी रंजीत मिश्रा के नेतृत्व में टीम कुमुदी यादव के पीछे लग गई। सूचना के अनुसार सेमापुर ओपी के बक्की कोल गांव में कुमुदी यादव छिपा हुआ था। वहीं पर वह दियारा की जमीन पर जबरन खेती करता था। एसटीएफ की टीम रेलवे का गैंगमैन का वेश बदलकर 2 दिनों से वहां छिपी हुई थी।
बताया जाता है कि जिस जगह पर कुमुदी यादव मचान बनाकर रहा करता था वहां पर रेलवे लाइन का काम चल रहा था। एसटीएफ की टीम रेलवे गैंगमैन का वेश धारण कर मजदूरों की टोली में शामिल होकर उसकी रेकी भी कर रही थी। वहीं पर मजदूरों के बीच घुल मिलकर रहने लगी थी। एसटीएफ अधिकारी और जवानों ने रेलवे मजदूर का रूप धारण कर रखा था और किसी को यह शक भी नहीं हो रहा था कि मजदूरों के वेश में एसटीएफ छिपे हुए हैं।

एसटीएफ के कमांडो और अधिकारी ने जब कुमुदी यादव को सामने से देख लिया तो एक अधिकारी हाथों में बोतल लेकर शौच के बहाने कुमुदी यादव के मचान की ओर बढ़ने लगे। वहां पर वह अपने 4 साथियों के साथ छिपा हुआ था और मछुआरों से मछली मरवा रहा था। एसटीएफ की बैकअप टीम भी अलर्ट मोड पर थी। कुमुदी और एसटीएफ के बीच जैसे ही फासला कम हुआ तो एसटीएफ कमांडो दौड़ते हुए गए और कुमुदी यादव को दबोचने का प्रयास किया। इस दौरान कुमुदी यादव नदी में कूद कर भागने की कोशिश भी करने लगा। एसटीएफ कमांडो भी उसके पीछे नदी में कूद गए और उसको दबोच लिया। हालांकि इस दौरान उसके दो साथी फरार हो गया। एसटीएफ गिरफ्तार अपराधी से पूछताछ कर रही है।
नवगछिया में हैं कई मामले दर्ज
कुमुदी यादव इलाके का कुख्यात अपराधी है और उसके खिलाफ 18 मामले दर्ज हैं. भागलपुर के गोपालपुर और रंगरा थाना में उसके खिलाफ कई केस दर्ज है।

Advertisements