BHAGALPUR

जाम और टूटी सड़कों से निजात नहीं दिला पा रहे जनप्रतिनिधि

जिले की टूटी सड़कों और जाम से यहां के जनप्रतिनिधि निजात नहीं दिला पा रहे हैं। कोई सरकार को तो कोई प्रशासन को कोस अपनी जिम्मेदारी से मुक्त हो रहा है।

 

हर चुनाव में सड़क और जाम चुनावी मुद्दा बनता है लेकिन बाद में जनप्रतिनिधि वादों को भूल जाते हैं। अब तो नेताओं के आश्वासनों की घूंट से जनता ऊब चुकी है।

 

जाम और टूटी सड़क से जनता परेशान है। विकास कार्य ठप और आवागमन बाधित हो चुका है। जनता नेताओं को कोस रही है तो नेता सरकार और अधिकारियों को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। बिहार की आर्थिक राजधानी का दावा करने वाले इस शहर में आने के लिए कोई रास्ता नहीं बचा है।

 

 

चम्पानाला पुल पर भारी वाहन नहीं चल रहे हैं तो विक्रमशिला पुल जाम से कराह रहा है। भागलपुर से कहलगांव तक की सड़क गड्ढों में तब्दील हो गयी है तो जगदीशपुर की सड़क पर गाड़ियों के जमावाड़े के चलते निकलना मुश्किल हो गया है।

 

बिहार में भागलपुर को सबसे पहले स्मार्ट सिटी घोषित किया गया लेकिन स्मार्ट सिटी की सड़कें चलने लायक नहीं रह गयी हैं। हालत यह है कि लोग चार पहिया वाहन सड़क पर लाने से परहेज कर रहे हैं। हर चौक-चौराहा जाम से परेशान है।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *