बिहार के पश्चिमी चंपारण जिले के बेतिया शहर के कालीबाग मोहल्ले में एक ही परिवार के तीन लोगों की हत्या करनेवाले​ प्रजीत सिंह को बेतिया पुलिस की सूचना पर मुंबई में गिरफ्तार कर लिया गया।

 

प्रजीत सिंह को इस मामले में न्यायालय ने फांसी की सजा सुनाई थी, जिसे देश के राष्ट्रपति ने दया प्रदर्शित करते हुए फांसी की सजा को आजीवन कारावास में तब्दील कर दिया था। मगर प्रजीत सिंह की आपराधिक मानसिकता कमजोर नहीं पड़ी और पिछले साल 30 दिसंबर 2016 को बक्सर जेल से भाग निकला।

 

जेल से फरार होने के बाद भी बेतिया में जिस परिवार के तीन सदस्यों की उसने हत्या की थी फिर से उन्हें धमकी देने लगा था। तब से पुलिस परेशान थी। बेतिया पुलिस लगातार गुजरात, राजस्थान, दिल्ली व मुंबई पुलिस से संपर्क कर उसकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी करा रही थी। इसी बीच पुलिस ने गुप्त और सटीक सूचना देकर बुधवार की रात गिरफ्तार करा दिया।

 

फरारी के दौरान कई लोगों की हत्या की ले चुका था सुपारी

 

प्रजीत सिंह जेल से फरारी के दौरान कई लोगों की हत्या करने के लिए सुपारी भी ले चुका था। उसकी इन हरकतों को लेकर बेतिया पुलिस काफी परेशान थी और कई राज्यों की पुलिस के साथ समन्वय बनाकर छापेमारी कर रही थी।

 

प्रजीत को तेज दौड़ने व ऊंची छलांग लगाने में है महारत

 

प्रजीत सिंह आपराधिक मानसिकता के साथ साथ तेज धावक और लंबी छलांग लगाने वाला युवक है। इसे जानने वाले लोग कहते हैं कि वह 10 मिनट में 10 किलोमीटर की दूरी तक तेज दौड़ सकता है। इतना ही नहीं लगभग साढ़े पांच फीट से भी कम कद का यह प्रजीत 5 फीट ऊंची छलांग लगाता है। उसने अपनी इस प्रतिभा को अपराधी क्षेत्र में खूब इस्तेमाल किया है। जेल से भागने के दौरान भी उसने अपनी इस प्रतिभा का खूब इस्तेमाल किया। प्रजीत सिंह चार भाईयों​ में तीसरे स्थान पर है।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *