झारखंड को तोहफा, देवघर में बनेगा AIIMS, CCEA ने दी मंजूरी

पीएम मोदी अक्सर कहते हैं कि देश के समग्र विकास में अंतिम पायदान पर स्थित शख्स की बेहतरी के बारे में सोचना जरूरी है। इसके साथ वो ये भी कहते हैं कि भारत की दो भुजाओं में पश्चिमी भुजा मजबूत है। लेकिन पूर्वी भुजा कमजोर है सशक्त भारत के निर्माण में पूर्वी हिस्से का विकास जरूरी है और ये तभी संभव है जब सरकार हर एक शख्स को बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध करा सके। बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने झारखंड को एम्स को तोहफा दिया है।

बुधवार को आर्थिक मामलों की कैबिनेट समिति ने कई प्रस्तावों को हरी झंडी दिखाई।सीसीईए ने झारखंड में बैजनाथ धाम के नाम से विख्यात देवघर में एम्स बनाने का फैसला किया है। सीसीईए ने एम्स के निर्माण के लिए 1107 करोड़ की वित्तीय मदद देने का ऐलान किया है।

देवघर में एम्स के निर्माण से न केवल झारखंड के लोगों को लाभ मिलेगा बल्कि पड़ोसी राज्य बिहार के लोगों को भी उच्चस्तरीय स्वास्थ्य सुविधा का लाभ मिल सकेगा। जटिल बीमारियों के इलाज के लिए झारखंड के लोगों को दिल्ली का सफर तय करना पड़ता था।

 

देवघर में एम्स के निर्माण के साथ ही लोगों को स्थानीय स्तर पर विश्व स्तरीय स्वास्थ्य सुविधाएं मिल सकेंगी। केंद्र सरकार के इस फैसले के बाद न केवल आम लोगों पर वित्तीय बोझ कम हो सकेगा, बल्कि नई दिल्ली स्थित एम्स पर दबाव कम हो जाएगा।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *