टला बड़ा हादसा: ट्रैक पर लटका हाईटेंशन तार का एंगल, युवकों ने टी-शर्ट लहरा रुकवायी ट्रेन

पटना-गया पैसेंजर को करेंट की चपेट में आने से रोका, हजारों यात्रियों की जान बचायी
जहानाबाद नगर : पटना-गया रेलखंड पर बुधवार को बड़ा हादसा टल गया. हुआ यह कि जहानाबाद और कड़ौना के बीच कनौदी गांव के पास अप लाइन पर हाईटेंशन वायर के लिए गाड़े गये पोल का एंगल टूटकर ट्रैक की ओर लटका गया. इसी दौरान ट्रैक पर आ रही पटना-गया पैसेंजर ट्रेन को देखकर कुछ युवकों ने अपनी टी-शर्ट उतार ली और ट्रैक पर आकर लहराने लगे. ट्रेन के चालक की नजर युवकों पर पड़ी और उन्होंने खतरा भांपकर ट्रेन रोक दी, जिससे बड़ा रेल हादसा बच गया. रेलकर्मियों और यात्रियों की मानें तो अगर समय रहते ट्रेन नहीं रुकती तो कई यात्रियों की जान जा सकती थी, क्योंकि पोल और एंगल में करंट दौड रहा था. ट्रेन रुकते ही यात्रियों में अफरातफरी मच गयी.

टूटे हुए एंगल की मरम्मत होने में दो घंटे लग गये. इसके बाद ही अप लाइन पर ट्रेनों का परिचालन शुरू हुआ. कनौदी गांव के पास शाम करीब चार बजे सवारी गाड़ी पहुंची थी, जिसे टूटे हुए एंगल की मरम्मत के बाद छह बजे के बाद वहां से खोला गया. जिले के गुड़ियारी पर गांव निवासी वार्ड पार्षद गणेश यादव का पुत्र प्रमोद अपने दो दोस्त शशि और नीरज के साथ अपने गांव से जहानाबाद आ रहा था. कनौदी गांव के पास कुछ लड़के क्रिकेट खेल रहे थे जिसे ये भी देखने लगे. तभी इनकी नजर एंगल पर पड़ी. टूटी हुई एंगल को देख प्रमोद सोचने लगा कि अगर कोई ट्रेन आयेगी तो हादसा हो सकता है. इसी बीच उसे कड़ौना की तरफ से ट्रेन का हॉर्न सुनायी दिया और फिर थोड़ी देर बाद 53213 अप सवारी गाड़ी आती हुई दिखी. इस पर प्रमोद अपनी टी-शर्ट उतारकर ट्रैक पर लहराने लगा. इसमें उसके दोस्त भी उसका सहयोग करने लगे. ट्रेन जब कुछ नजदीक आयी तो चालक की नजर युवकों पर पड़ी. चालक ने जब हाथ से इशारा किया कि युवकों पर उसकी नजर पड़ गयी है तो युवक ट्रैक से हट गये.

हालांकि, ट्रेन के रुकते-रुकते इंजन व एक बोगी टूटे हुए एंगल से आगे निकल गयी. ट्रेन रुकते ही उस पर सवार यात्रियों में अफरातफरी मच गयी. जब उन्हें पता चला कि हाईटेंशन वायर के लिए लगा एंगल टूटा हुआ था और उसमें करेंट दौड रहा था तो यात्री सहम गये. ट्रेन चालक ने इसकी जानकारी स्टेशन प्रबंधक को दी. सूचना मिलते ही स्टेशन प्रबंधक के साथ जीआरपी और आरपीएफ के जवान मौके पर पहुंच गये. वहीं रेलवे इंजीनियरिंग के कर्मी भी वहां पहुंचे और टूटे हुए एंगल की मरम्मत में जुट गये. करीब दो घंटे के प्रयास के बाद टूटे एंगल को ठीक किया गया. इससे चालक ने ट्रेन रोक दी और बड़ा हादसा टल गया.

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *