तितली तूफान का प्रकोप बढ़ता जा रहा है,बिहार में भी आंधी तूफान के साथ तेज बारिश की आशंका

तितली तूफान का प्रकोप बढ़ता जा रहा है,बिहार में भी आंधी तूफान के साथ तेज बारिश की आशंका

10th October 2018 0 By Kumar Ashwini

रांची/भुवनेश्वर : बंगाल की खाड़ी पर बन रहे दबाव के कारण आये चक्रवाती तूफान ‘तितली’ ने बुधवार को प्रचंड रूप ले लिया और यह ओडिशा-आंध्र प्रदेश तट की ओर बढ़ रहा है जिससे ओडिशा के कई हिस्सों में बारिश हुई. मौसम वैज्ञानिक ए वदूद ने तूफान के संबंध में बताया कि फिलहाल यह उत्तर-पश्‍चिम की ओर बढ़ रहा है लेकिन गुरुवार को इसके उत्तर पूर्व की ओर बढ़ने की आशंका है. यदि ऐसा होता है तो झारखंड, बिहार और पश्‍चिम बंगाल में इसका व्यापक परिणाम देखने को मिल सकता है.

उन्होंने कहा कि तूफान ‘तितली’ वर्तमान में 110 से 120 किमी प्रति घंटे से बढ़ रहा है लेकिन इसकी दिशा उत्तर पूर्व होते ही इसकी रफ्तार 130 से 150 किमी प्रति घंटा हो जाएगी. इसका असर पूरे झारखंड में नजर आएगा. इधर , भारतीय मौसम विभाग ने बताया कि चक्रवातीय तूफान के 145 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाओं के साथ गुरुवार सुबह तक ओडिशा के गोपालपुर और आंध्र प्रदेश के कलिंगापत्तनम के बीच पहुंचने की संभावना है.

18 घंटे के दौरान लेगा प्रचंड रूप

भारतीय मौसम विभाग ने एक बुलेटिन में कहा, ‘‘तितली 110 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार के साथ आगे बढ़ रहा है और उसने प्रचंड चक्रवातीय तूफान का रूप ले लिया है. यह ओडिशा में गोपालपुर से करीब 370 किमी. दूर दक्षिण- दक्षिण पश्चिम में बंगाल की खाड़ी के पश्चिम मध्य क्षेत्र पर मंडरा रहा है. इसमें कहा गया कि इसके अगले 18 घंटे के दौरान और प्रचंड रूप लेने की आशंका है. चक्रवात के उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने और गुरुवार सुबह तक गोपालपुर और कलिंगापत्तनम के बीच ओडिशा तथा आंध्र प्रदेश के उत्तरी तट को पार करने की आशंका है.

भारी बारिश की संभावना

भुवनेश्वर में मौसम केंद्र के निदेशक एच आर बिस्वास ने बताया कि इसके बाद चक्रवात के ओडिशा पार करके पश्चिम बंगाल के गंगा तटीय क्षेत्रों की ओर बढ़ने की संभावना है तथा उसके बाद यह धीरे-धीरे कमजोर हो जाएगा. तटीय ओडिशा के कुछ इलाकों में बुधवार को बारिश हुई. मौसम विभाग ने गुरुवार तक कई इलाकों में ‘‘भारी से बहुत भारी वर्षा’ और कुछ इलाकों में ‘‘अत्यधिक भारी बारिश’ का अनुमान जताया है.

मछुआरों को सलाह

मौसम विभाग ने मछली पकड़ने के लिए ना जाने तथा तट पर रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर जाने की सलाह दी है. मछुआरों को शुक्रवार तक समुद्र में ना उतरने की सलाह दी गयी है. ओडिशा सरकार राज्य में भारी बारिश के मद्देनजर बाढ़ की आशंका को लेकर भी सतर्क है. राज्य सरकार ने सभी जिलों में पहले ही हाई अलर्ट घोषित कर दिया है. अधिकारियों ने बताया कि जिलाधीशों को सतर्क रहने और निचले इलाकों मे रह रहे लोगों को स्थानांतरित करने के लिए कहा गया है.

स्कूलों, कॉलेज तथा आंगनवाड़ी केंद्र बंद
ओडिशा सरकार ने बुधवार से गजपति, गंजम, पुरी और जगतसिंहपुर जिलों में स्कूलों, कॉलेजों तथा आंगनवाड़ी केंद्रों को बंद करने के आदेश दिये हैं. बाढ़ की आशंका के चलते 11 अक्टूबर तक करीब 300 मोटरचालित नौकाओं का बंदोबस्त किया गया है. मुख्य सचिव ए पी पाधी ने बताया कि राष्ट्रीय आपदा मोचन बल और ओडिशा आपदा त्वरित कार्रवाई बल के साथ दमकल कर्मियों को विभिन्न जिलों में भेजा गया है.

Advertisements