Advertisements

तितली ने मचाई तबाही- आंध्र में 10 लोगों की मौत, बंगाल में कमजोर पड़ा तूफान

हैदराबाद/भुवनेश्वर/कोलकाताः  चक्रवाती तूफान ‘तितली’ ने उत्तरी आंध्र प्रदेश और दक्षिणी ओडिशा तटों के बीच श्रीकाकुलम जिले में गुरुवार सुबह काफी कहर बरपाया। आंध्र में 10 लोगों की जान लेने के साथ ओडिशा में भी इसने तबाही मचाई। वहीं, पश्चिम बंगाल में पहुंचते-पहुंचते यह कमजोर पड़ गया। हालांकि, वहां भी भारी बारिश हुई। जारी बुलेटिन के मुताबिक, आज सुबह इसका असर कमजोर पड़ गया। पश्चिम बंगाल के चार जिले मेदिनीपुर पूर्व और मेदिनीपुर पश्चिम, दक्षिण 24 परगना और उत्तर 24 परगना में भी बारिश हुई। अगले 48 घंटों में बारिश के आसार बने हुए हैं।
PunjabKesari
आज भी बंद रहेंगे स्कूल-कॉलेज
ओडिशा सरकार ने तूफान के चलते 12 तारीख को भी स्कूल-कॉलेज बंद रखने का फैसला किया है। तूफान से निपटने की तैयारियों का जायजा लेने के लिए ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने एक उच्च स्तरीय बैठक भी की।
PunjabKesari
पेड़ और बिजली के खंभे उखड़े
ओडिशा में तितली के पहुंचने पर कच्चे मकान ढह गए तथा सैकड़ों की संख्या में पेड़ गिर गए। बिजली और टेलीफोन के खंभे उखड़ जाने से संचार सेवाओं पर व्यापक असर पड़ा है। तूफान से सबसे अधिक प्रभावित वे मछुआरे हुए हैं, जो मछलियां पकड़ने समुद्र की ओर गए थे।
PunjabKesari
मौसम विभाग के अधिकारियों ने बताया कि चक्रवाती तूूफान पश्चिम मध्य बंगाल की खाड़ी से उत्तर पश्चिम की तरफ बढ़ा और श्रीकाकुलम जिले में पालासा के समीप उत्तरी अक्षांश 18.8 तथा 84.5 पूर्वी देशांतर के नजदीक से उत्तर आंध्र प्रदेश तथा दक्षिण ओडिशा तटों से गुजर गया। इस दौरान सुबह साढ़े चार बजे से साढ़े पांच बजे के बीच हवाओं की अधिकतम रफ्तार 140 किलोमीटर प्रति घंटे से लेकर 165 किलोमीटर प्रति घंटा रही।

PunjabKesari

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *