दिल्ली से सटे गुरुग्राम में बाढ़ जैसे हालात, क्रेन से निकाले जा रहे पानी में फंसे लोग

दिल्ली से सटे गुरुग्राम में बाढ़ जैसे हालात, क्रेन से निकाले जा रहे पानी में फंसे लोग

28th August 2018 0 By Kumar Ashwini

नई दिल्ली दिल्ली-एनसीआर के कई इलाकों में भारी बारिश के बाद जलभराव हो गया है और कई इलाकों में लोगों को भारी ट्रैफिक जाम का सामना करना पड़ रहा है। मंगलवार सुबह से शुरू हुई जाम की स्थिति अब भी बनी हुई है, लोग जगह-जगह जाम में फंसे पड़े हैं। खासकर सुबह स्कूल और दफ्तरों के लिए निकले लोगों को जाम से रूबरू होना पड़ा। भारी बारिश और जाम के चलते गुरुग्राम के कई स्कूलों छुट्टी कर दी गई है।

वहीं, जहां गुरुग्राम प्रशासन के बड़े बड़े दावे फेल हुए हैं वहीं, इस बारिश ने एक बार फिर 26 जुलाई 2016 जैसा हाल कर दिया। हीरो होंडा चौक पर बाढ़ जैसे हालात  पैदा हो गए। अंडरपास में भरे पानी में 4 गाड़ियां पानी में डूब गईं। स्थिति यह हो गई कि लोगों को पानी से निकलने के लिए ट्रैक्टर व क्रेन का सहारा लिया गया।

वहीं, मौसम विभाग के अनुसार, दिल्ली-एनसीआर के साथ गुरुग्राम, मानेसर, भिवानी, झज्जर, रेवाड़ी, मेरठ, बरौट, बागपत, सोनीपत में अगले कुछ घंटों में आंधी-तूफ़ान के अलावा मूसलाधार बारिश होने के आसार हैं।

बारिश से दिल्ली व गुरुग्राम पस्त
जानकारी के मुताबिक, दिल्ली-एनसीआर के कई इलाकों में मंगलवार सुबह तेज बारिश हुई। भारी बारिश के चलते कई इलाकों में जलभराव के कारण जाम की समस्या शुरू हो गई। देश की राजधानी दिल्ली के साथ गुरुग्राम, नोएडा, गाजियाबाद, फरीदाबाद और साहिबाबाद समेत कई इलाकों में मंगलवार सुबह से हो रही बारिश से लोगों को उमस भरी गर्मी से तो काफी राहत मिली, लेकिन जगह-जगह ट्रैफिक जाम से वाहन चालकों को खासी दिक्कतों का सामना भी करना पड़ रहा है।

बारिश के चलते दिल्ली के बाद सर्वाधिक प्रभावित गुरुग्राम है। यहां पर बारिश ने सड़कों के साथ गुरुग्राम नगर निगम की लापरवाही की भी पोल खोल कर रख दी है।

कई इलाकों में घुटनों तक पानी भरा है। यहां तककि पुलिस कर्मियों को भी घुटनों तक पानी में खड़े होकर ट्रैफिक संचालित करना पड़ रहा है।

ये हैं प्रभावित इलाके

भारी बारिश के चलते दिल्ली कई जगह पानी भर गया है। उत्तम नगर, धौला कुआं, आरके पुरम में जलभराव से भारी ट्रैफिक जाम लगा है।

दिल्ली से सटे गुरुग्राम में भारी बारिश के बाद कई जगह जलभराव का आलम है। खासकर हीरो होंडा चौक के पास हालात बेहद खराब हैं।

मौसम विभाग ने पहले ही जता दी थी आशंका

मौसम विभाग ने पहले ही दिल्ली-एनसीआर के साथ उत्तराखंड, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, पूर्वी राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, सिक्किम, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, कोंकण, गोवा, तेलंगाना और तटीय कर्नाटक में मंगलवार को बारिश की आशंका जता थी थी।

दक्षिणी दिल्ली के धौला कुआं, आरके पुरम, तीन मूर्ति भवन इलाके में सड़कों पर जलभराव हो गया है, जिसकी वजह से ट्रैफिक बहुत धीमा चल रहा है।

इससे पहले सोमवार रात को दिल्ली के साथ नोएडा, ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद में बारिश हुई। दिल्ली के पालम में इतनी भीषण बारिश हुई कि वहां की सड़कों पर कई फीट पानी भर गया।

 

झमाझम बारिश ने नाले-नालियों की सफाई व रखरखाव का दावा करने वाले दिल्ली के तीनों नगर निगमों की पोल खोलकर रख दी।

जलनिकासी के उचित प्रबंध न होने व नाले-नालियों की सफाई न किए जाने के कारण जगह-जगह सड़कों पर जलभराव हो गया। जगह-जगह पानी भरा होने के कारण सड़कों पर यातायात बुरी तरह से प्रभावित रहा।

गुरुग्राम स्थित हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में भरा पानी, यहां पर लोगों को आना-जाना मुश्किल हो गया है।

गुरुग्राम में दिल्ली- जयपुर हाईवे पर बारिश के पानी से जाम लग गया है, जिससे वाहन रेंग-रेंगकर चल रहे हैं।

मौसम विभाग ने पहले ही आशंका जता दी थी कि मंगलवार को हल्की बारिश हो सकती है। तापमान 32 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहेगा। अब तेज बारिश की संभावना कम ही है। अगस्त में बारिश का ग्राफ 35 फीसद तक कम रह सकता है।

इससे पहले सोमवार को सुबह सवेरे हुई बारिश से उस समय तो कुछ ठंडक महसूस हुई, लेकिन बाद में इस राहत से कहीं ज्यादा दिन भर उमस से परेशानी झेलनी पड़ गई। उमस के कारण दिल्लीवासी पसीने की समस्या से भी खासे परेशान रहे।  सोमवार को अधिकतम तापमान 32.7 डिग्री सेल्सियस रहा, जो सामान्य से एक डिग्री कम था। वहीं न्यूनतम तापमान भी 26.5 डिग्री सेल्सियस रहा। सुबह करीब छह बजे से घने बादल छाने के बाद दिल्ली के कई क्षेत्रों में हल्की बौछारें पड़ीं। सफदरजंग में 1.8 एमएम, पालम में 1.4 एमएम, लोदी रोड में 1.6 एमएम, रिज में 4.8 एमएम, आया नगर में 1.8 एमएम, जफरपुर में दो एमएम, मंगेशपुर में एक एमएम, नजफगढ़ में चार एमएम, पूसा में दो और स्पोर्ट्स कांप्लेक्स में दो एमएम बारिश हुई।

Advertisements