देवघर के बाबामंदिर में लगाई गई है पॉलिथीन पर पाबंदी

देवघर के बाबामंदिर में लगाई गई है पॉलिथीन पर पाबंदी

15th June 2018 0 By Bibhav Kumar

नगर निगम ने मंदिर परिसर में जगह-जगह पोस्टर लगाए हैं जिसके जरिये लोगों को जागरूक किया जा रहा है.
नगर निगम और प्रबंधन समिति के प्रयास से बाबा मंदिर को पॉलीथिन मुक्त किया जा रहा है.
रांची: देवघर के बाबामंदिर में पॉलिथीन पर पाबंदी लगा दी गई है. नगर निगम ने मंदिर परिसर में जगह-जगह पोस्टर लगाए हैं जिसके जरिये लोगों को जागरूक किया जा रहा है. प्लास्टिक की जगह कपड़े के थैले को बढ़ावा देने का प्रयास किया जा रहा है.

देवघर एक तीर्थ स्थल है जहां बारह ज्योतिर्लिंग में से एक बाबा वैद्यनाथ विराजमान है. बाबाधाम में दर्शन के लिए हर सालों की संख्या में देश और विदेश से श्रद्धालु आते है और मंदिर परिसर में सजी दुकानों से प्रसाद और श्रृंगार का सामान खरीदते हैं जो श्रद्धालुओं को प्लास्टिक के थैले में दिया जाता है लेकिन अब तस्वीर बदल रही है. नगर निगम और प्रबंधन समिति के प्रयास से बाबा मंदिर को पॉलीथिन मुक्त किया जा रहा है. इसके लिए बैनर पोस्टर के माध्यम से जागरूकता फैलाई जा रही है. पूरे इलाके में हमने प्लास्टिक लिया था, और झोला बांटा था. बाबामंदिर के भीतर में भी जो लोग प्रसाद बांटते हैं उसमें भी किया था.

देवघर नगर आयुक्त संजय कुमार सिंह का कहना है कि पूरा प्रयास कर रहें हैं कि बाबामंदिर परिसर में प्लास्टिक का उपयोग न हो. यथासंभव पूरी तरह जल्द से जल्द प्लास्टिक मुक्त हो यह परिसर. मंदिर प्रबंधक रमेश परिहस्त ने बताया कि पॉलीथिन की जगह कपड़े से बने थैले इस्तेमाल करने की सलाह दुकानदारों को दी गई है. पॉलीथिन मुक्त देवघर के लिए सभी वार्डो में रात्रि चौपाल भी लगाया जाएगा. साथ ही पॉलिथीन इस्तेमाल करने वालों पर जुर्माना लगाया जाएगा. पॉलीथिन पर पाबंदी से पुजारी से लेकर स्थानीय लोग भी खुश हैं.

पुरोहित का कहना है कि जब से रोक हमलोगों के द्वारा लगाई गई है, झारखंड सरकार द्वारा लगाई गई है. उसके बाद से पॉलिथीन पर रोक लगा है. यह लगभग 10-20% रहा है. बहुत ही अच्छा किया, पॉलिथीन से बहुत बरबादी हो रही थी जिससे गौ माता बहुत मर जाती थी. पॉलिथीन एक दम टोटल बंद होना चाहिए. बहुत ही सराहनीय पहल है, मगर इसमें मंदिर प्रसाशन को भी आदेश पालन के लिए कड़ा रुख लेना पड़ेगा. चूंकि यहां रोजाना लाखों भक्त आते हैं. उनके भी इसके लिए कुछ विशेष व्यवस्था करना होगा. पॉलीथिन पर बैन से स्वच्छ भारत मिशन को बल मिलेगा. साथ ही झारखंड का पर्यावरण भी बेहतर होगा.

Advertisements