धनबाद-चंद्रपुरा रेल मार्ग के मुद्दे पर गुरुवार को रेल मंत्री सुरेश प्रभु की अध्यक्षता में दिल्ली में बैठक हुई. इस रेलखंड पर यातायात कैसे सामान्य हो और क्या क्या विकल्प हो सकते हैं, इस पर विस्तार से चर्चा की गयी. मौजूदा गोमो फ्लाइओवर के निर्माण के खर्च को 250 करोड़ से बढ़ा कर 500 करोड़ करने पर भी विचार किया गया. साथ ही यहां से दो अतिरिक्त रेल लाइन बनाने का भी निर्णय लिया गया है.

राइट्स को भी प्रभावित रेलखंड के डायवर्सन के सर्वे का काम तेजी से करने को कहा गया है, ताकि इस पर जल्दी से काम हो सके. रेल प्रशासन भी कम से कम दूरी तय करते हुए डायवर्सन तैयार करने की संभावना तलाश रहा है. बैठक में रेलवे बोर्ड के चेयरमैन एके मित्तल, सदस्य मो. जमशेद, आदित्य कुमार मित्तल व राइट्स के सीएमडी राजीव मेहरोत्रा शामिल थे.

युद्धस्तर पर एक्शन प्लान बने

रेल मंत्री ने कहा कि युद्धस्तर पर हमें एक्शन प्लान तैयार कर इसका कार्यान्वयन करना चाहिए. इस लाइन के बनने से यहां से दो अतिरिक्त रेल लाइन का संपर्क होगा. एक रेलवे लाइन मटारी स्टेशन से जुड़ेगी, ताकि धनबाद की ओर से आनेवाले ट्रेन को रूट बदलने में आसानी हो सके. इससे निर्माण कार्य की कुल लागत बढ़ जायेगी.

कई रद्द ट्रेनों पर जल्द विचार करेगा रेलवे बोर्ड

रेलवे बोर्ड जल्द ही रांची से धनबाद के बीच चलनेवाली कई रद्द की गयी ट्रेनों के चलाये जाने के मुद्दे पर जल्द विचार करेगा. इस संबंधित मसौदा रेलवे बोर्ड के पास उपलब्ध है. जानकारी के अनुसार रांची से खुलनेवाली रांची-जयनगर एक्सप्रेस को धनबाद तक चलाने अथवा दूसरे मार्ग से रांची लाने पर विचार हो सकता है. इसी तरह रांची-कामाख्या एक्सप्रेस को धनबाद तक व रांची लाने पर विचार हो सकता है. भुवनेश्वर-धनबाद गरीब रथ को बोकारो तक , धनबाद-रांची इंटरसिटी को चंद्रपुरा से रांची तक , दरभंगा-सिकंदराबाद, दरभंगा-हैदराबाद को दूसरे मार्ग से लाये जाने सहित अन्य ट्रेनों पर विचार किया जायेगा .

वीके गुप्ता होंगे रांची के नये डीआरएम

पूर्व रेलवे निर्माण विभाग के मुख्य अभियंता विजय कुमार गुप्ता को रांची रेल मंडल का नया डीआरएम बनाया गया है. वह एसके गुप्ता का स्थान लेंगे. इस आशय की अधिसूचना जारी कर दी गयी है.

श्री गुप्ता ने कहा : वे जल्द नये पद पर योगदान देंगे. श्री गुप्ता 1986 बैच के सिविल इंजीनियर हैं. उसी साल उन्हाेंने रेलवे में योगदान दिया. इधर रांची रेल मंडल के वर्तमान डीआरएम संतोष कुमार अग्रवाल का स्थानांतरण हो गया है. फिलहाल उनकी पाेस्टिंग नहीं की गयी है. फिलहाल वह रेलवे बोर्ड में योगदान देंगे .

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *