नीतीश कुमार खुद नशे में रहते हैं और दूसरों को कराते हैं नशामुक्त:तेजप्रताप यादव

राज्य का मुख्यमंत्री खुद ही नशा का आदी हो और वह दूसरों को नशामुक्त करने की सलाह देता हो तो थोड़ी अजीब सी लगती है. शराबबंदी के बाद भी शराब की बिक्री जोरों पर है.

 

प्रशासन के लोग ही शराब की होम डिलिवरी कर रहे हैं. सरकार के कई मंत्रियों का शराब का आनंद लेते हुए वीडियो व फोटो है पर उन पर कार्रवाई नहीं होगी,क्योंकि भाजपा एक ऐसी गंगा है जहां सब पाप धूल जाते हैं. ये बातें सूबे के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री व लालू प्रसाद यादव के दूसरे पुत्र तेजस्वी यादव ने बारुण के रेलवे मैदान में कहीं. पूर्व मंत्री यहां महिला फुटबॉल टूर्नामेंट के फाइनल मैच का उद्घाटन करने को आये थे.

 

उन्होंने कहा कि बिहार में महिलाओं के हक को दबाया जा रहा है. खिलाड़ियों को कई समस्याएं रहती है. उन्हें मूलभूत मिलने वाली सुविधाएं नहीं मिल पाती हैं. प्रत्येक कार्य में महिला पुरुषों से आगे बढ़ रही हैं. वर्तमान समय में महिलाओं की स्तिथि दयनीय है.

 

गैंगरेप व हत्याएं बढ़ी हैं. इतना होने के बावजूद भी सरकार सोयी हुई है. गरीबों की लड़ाई लड़ते -लड़ते लालू प्रसाद यादव को जेल भिजवा दिया गया. गरीबों व दलितों के साथ अत्याचार हो रहा है, फिर भी सरकार सोयी हुई है. सरकार ने किसानों से उनका हक छीना है. जिसका जवाब देने के लिए आम अवाम तैयार है. इस मौके पर पूर्व केंद्रीय मंत्री डाॅ कांति सिंह,डेहरी विधायक इलियास हुसैन, कुटुंबा विधायक राजेश कुमार, पूर्व मंत्री सुरेश पासवान, पूर्व विधायक रामचंद्र सिंह,सुरेश मेहता,राजद जिलाध्यक्ष कौलेश्वर प्रसाद यादव, आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ के उपाध्यक्ष डॉ प्रकाश चंद्रा, राजद प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य सुबोध कुमार सिंह,पूर्व मुखिया डा चंदन कुमार,उदय उज्जवल ,मुरारी सोनी, राहुल यादव,विवेक कुमार आदि मौजूद थे. कार्यक्रम की अध्यक्षता पूर्व विधायक भीम सिंह व संचालन प्रखंड अध्यक्ष अनिल टाइगर ने किया.

 

मुरली की धून पर तालियों की गड़गड़ाहट

 

पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप को बासुरी बजाना बेहद पसंद है और इस पसंद के कारण वे पूर्व में काफी चर्चा में भी रहे हैं. महिला टूर्नामेंट के फाइनल मैच में शिरकत करने के लिए जब वे पहुंचे और संबोधन के लिए माइक संभाली तो भीड़ से लोगों ने बासूरी की धून सुनाने की फरमाइश की. इस पर उन्होंने लोगों की फरमाइश भी पूरी कर दी. जब बांसूरी की धून कार्यक्रम स्थल को भेदने लगी तो उत्साहित लोगों ने तालियों बजा कर तेज प्रताप का अभिनंदन किया. इस मौके पर पूर्व मंत्री ने शंख भी फूंका.

भीड़ से बच्चे को बुला कर कार्यक्रम का कराया उद्घाटन

 

कार्यक्रम उद्घाटन के दौरान तेजप्रताप ने एक बार फिर अपने पुराने अंदाज को दुहराया. उन्हें सुनने और देखने के लिए दूर-दूर से भारी संख्या में लोग उपस्थित हुए थे. जिस वक्त उद्घाटन की औपचारिकता पूरी की जानी थी या उद्घाटन के लिए अतिथि तैयार थे उसी वक्त तेजप्रताप ने भीड़ से एक दलित बच्चे को बुलाया और फिर उसी के हाथों उद्घाटन कराया.

 

झारखंड ने हराया बिहार को

 

बारुण के रेलवे मैदान में आयोजित बिहार-झारखंड महिला फुटबॉल टूर्नामेंट का फाइनल मैच रोमांचक रहा. इस मैच में झारखंड की महिला टीम ने बिहार की टीम को 1-0 से हरा कर शील्ड पर कब्जा जमाया. फाइनल मैच को देखने के लिए हजारों दर्शक पहुंचे थे.

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *