मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि लोकसभा, विधानसभा व पंचायती राज व्यवस्था के लिए होने वाले चुनाव एक साथ हों इसके लिए संविधान में संशोधन की जरूरत है। यह एक सार्थक डिबेट है। एक साथ चुनाव तत्काल संभव नहीं। आगे के बारे में अभी से मन बनाना चाहिए। लोकसंवाद कक्ष में संवाददाताओं से बातचीत के क्रम में मुख्यमंत्री ने यह बात कही।

वहीं आउटसोर्सिंग में आरक्षण के दौरान महिला आरक्षण विषय पर जब बात निकली तो मुख्यमंत्री ने कहा कि हम तो आरंभ से ही इसके समर्थक रहे हैैं। शरद यादव ने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप कुछ कहा पर इसके बावजूद राज्यसभा में जदयू ने महिला आरक्षण का समर्थन किया।

राज्यसभा के बाद जब यह विषय लोकसभा में आएगा तो जदयू के पास जो सीमित ताकत है उसके हिसाब से इसका समर्थन किया जाएगा।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *