नोटबंदी के दो साल पूरे, कांग्रेस आज देश भर में करेगी विरोध प्रदर्शन

नोटबंदी के दो साल पूरे, कांग्रेस आज देश भर में करेगी विरोध प्रदर्शन

9th November 2018 0 By Rahul Raj

8 नवंबर की तारीख हिंदुस्तान के इतिहास में कभी न भूलने वाले अध्याय के रूप में दर्ज है। खासकर देश की अर्थव्यवस्था के लिए तो ये तारीख एक ऐसा झटका है। जिसके हिचकोले आज तक नहीं थमे। यही वो तारीख थी जिसने देश के करोड़ों लोगों को अचानक लाइन में खड़ा कर दिया। हम बात कर रहे हैं नोटबंदी की जिसके दो साल पूरे हो गए पर इसकी गूंज आज भी सड़क से लेकर सियासी गलियारों तक सुनाई दे रही है।
नोटबंदी के दो साल पूरे चुके हैं। 8 नवंबर, 2016 शाम के आठ बजे प्रधानमंत्री मोदी सरकार ने एक हजार और 500 के नोट बंद करने का ऐलान किया था। सरकार के इस कदम के बाद देश के अलग-अलग हिस्सों में लोगों को काफी दिक्कतों को सामना करना पड़ा था। एटीएम के बाहर लंबी-लंबी कतारें नजर आ रही थीं। सरकार के इस फैसले के खिलाफ कांग्रेस के साथ-साथ कई विपक्षी दलों ने एकबार फिर मोर्चा खोल दिया है और प्रधानमंत्री मोदी से देश से मांफी मांगने की मांग कर रहा है। कांग्रेस का आरोप है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पांच व हजार रुपयों के नोट को एकदम बंद कर लोगों को मुश्किल में डाल दिया था लेकिन इस नोटबंदी का कोई भी लाभ देश को नहीं हुआ। कांग्रेस ने नोटबंदी के दो साल होने पर आज देशव्यापी प्रदर्शन का ऐलान किया है।

पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह नोटबंदी को मोदी सरकार की ऐतिहासिक गलती बता रहे हैं, जबकि लेफ्ट और टीएमसी जैसी पार्टियों का दावा है कि जनता आम चुनाव में इसका हिसाब करेगी। मनमोहन सिंह का कहना है कि भारतीय अर्थव्यवस्था की नींव स्मॉल और मीडियम बिजनेस को नोटबंदी के झटकों से उबरना अब भी बाकी है। इसका सीधा असर रोजगार पर पड़ा है, क्योंकि अर्थव्यवस्था हमारी युवा आबादी के लिए जरूरत के हिसाब से नई नौकरियां पैदा करने में अब भी संघर्ष कर रही है। नोटबंदी कितना घातक कदम था, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि दो साल बाद लोग समझ नहीं पा रहे हैं कि असल में इसका कहां-कहां और क्या असर हुआ। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने जहां मोदी सरकार से आर्थिक नीतियों में पारदर्शिता लाने की अपील की है तो वहीं कांग्रेस पार्टी का कहना है कि मोदी सरकार को देश से माफी मांगनी चाहिए।

उधर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष ममता बनर्जी ने भी हैशटैग डार्क डे के नाम से ट्वीट कर नोटबंदी के फैसले को गलत ठहराते हए कहा है कि नोटबंदी के जरिये मोदी सरकार ने देश को धोखा दिया और बड़ा घोटाला किया। इससे अर्थव्यवस्था बर्बाद हो गई और लाखों लोग प्रभावित हुए। जिन्होंने ऐसा किया उन्हें जनता सज़ा देगी। हालांकि नोटबंदी के समर्थन और विरोध की सियासत के बीच मोदी सरकार का अभी भी ये दावा है कि ये फैसला देश की तरक्की के लिहाज से ऐतिहासिक था, जिसके अच्छे नतीजे धीरे धीरे सामने आ रहे हैं।

Advertisements