खूबसूरत गॉल क्रिकेट मैदान में खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच में भारत अच्छी स्थिति में पहुंच चुका है। 600 रन का विशाल स्कोर बनाने के बाद उन्होंने श्रीलंका की आधी टीम को पवेलियन भेज दिया है। अब सिर्फ एंजेलो मैथ्यूज ही भारत की विशाल बढ़त के रास्ते में हैं।

गेंद अच्छे से ग्रिप हो रही है और टर्न भी हो रही है। ऐसे में श्रीलंकाई बल्लेबाजों को अश्विन और जडेजा को अच्छे से खेलना होगा तभी मैच पांचवें दिन तक खिंच सकता है। ऐसा लग रहा था कि पहले दिन के खेल के बाद ड्रेसिंग रूम में उन्हें जमकर डांट पड़ी। उन्हें बेहद खराब गेंदबाजी करते देखकर मुझे हैरानी नहीं हुई और उससे भी ज्यादा उन्होंने फील्डिंग खराब की। उन्होंने 190 रन बनाने वाले धवन को टेस्ट मैच में वापसी करने का मौका दिया और चेतेश्वर पुजारा ने एक और शतक जड़ा।

हालांकि, दूसरे दिन उन्होंने एक लक्ष्य के साथ गेंदबाजी की और फील्डिंग भी अच्छी की। नुवान प्रदीप सबसे बेहतरीन साबित हुए और पहले दिन के तीन विकेट में और तीन विकेट जोड़े। इसमें पुजारा का कीमती विकेट भी शामिल था। पहले दिन खराब गेंदबाजी के बाद दूसरे दिन उन्होंने अच्छा नियंत्रण दिखाया।

लंच तक किसी ने भी नहीं सोचा था कि भारत 600 तक पहुंच जाएगा, लेकिन भाग्यशाली हार्दिक पांड्या ने पदार्पण मैच में ही शानदार अर्धशतक लगाते हुए टीम को इस स्कोर तक पहुंचा दिया। लंच से पहले स्लिप में कैच छूटने के बाद उन्हें लग गया था कि आज उनका दिन है। मुहम्मद शमी ने भी टेस्ट क्रिकेट में अच्छी वापसी की और वह शुरुआत से ही लक्ष्य पर गेंदबाजी करते रहे। उनकी गेंद पर बल्लेबाज अक्सर शॉट खेलने में देरी कर देते हैं। उन्होंने मेंडिस के विकेट समेत दो विकेट लिए। भारत की फील्डिंग भी अच्छी रही और मुकुंद ने सूझबूझ दिखाते हुए थरंगा को आउट किया। श्रीलंका को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचने के लिए मैथ्यूज का सहारा है, लेकिन वह भी मैच को पांचवे दिन नहीं खींच पाएंगे।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *