प्रद्युम्न हत्याकांड:पिता बोले-खट्टर सरकार के एक मंत्री नहीं चाहते थे CBI जांच हो

प्रद्युम्न हत्याकांड:पिता बोले-खट्टर सरकार के एक मंत्री नहीं चाहते थे CBI जांच हो

14th November 2017 0 By Kumar Aditya

रेयान स्कूल में कक्षा-2 के छात्र की हत्या के मामले में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा सीबीआई जांच की घोषणा से एक दिन पहले हरियाणा के कैबिनेट मंत्री राव नरबीर सिंह ने परिवार से सीबीआई जांच की मांग नहीं करने के लिए कहा था। बच्चे के पिता ने मंगलवार को इस बात की जानकारी दी। पिता बरुण चंद्र ठाकुर ने कहा कि नरबीर सिंह 14 सितंबर को उनके घर गए थे और कड़े शब्दों में केंद्रीय जांच ब्यूरो से जांच की मांग का विरोध किया था। आठ सितंबर को रयान इंटरनेशल स्कूल में सात वषीर्य प्रद्युम्न ठाकुर की हत्या हो गई थी।
पिता ने आईएएनएस को बताया कि पीडब्लूडी, वन और नगर विमानन मंत्री उनके सोहना रोड स्थित आवास मारुति कुंज पहुंचे थे और उनसे हत्या मामले में सीबीआई जांच की मांग न करने के लिए कहा था। ठाकुर ने मंत्री के हवाले से कहा, “सीबीआई एक बड़े नाम के अलावा कुछ नहीं है। एजेंसी के पास पहले से ही बहुत काम है और वह एक साल या उससे अधिक समय से पहले जांच करने में सक्षम नहीं है। हरियाणा पुलिस सीबीआई से बेहतर एजेंसी है और वह अपनी जांच रपट तय समय में दाखिल कर देगी।”ठाकुर ने कहा, “जब हमने कहा कि मामले में हम सीबीआई जांच चाहते हैं तो मंत्री ने तर्क दिया, “क्या होगा अगर सीबीआई भी इस तथ्य के साथ आएगी कि स्कूल बस कंडक्टर अशोक कुमार बच्चे का उत्पीड़न करने में नाकाम हो गया इस कारण उसने बच्चे को मार डाला।” ठाकुर ने कहा कि मंत्री उस आदमी के साथ थे, जिसे वह जानते तक नहीं थे।
उन्होंने कहा, “उसके पहले मंत्री नौ सितंबर को प्रद्युम्न के दाह संस्कार के समय मौजूद थे और वह 1० सितंबर को दोबारा मिलने आए और अपनी संवेदनाएं व्यक्त की, लेकिन वह मुझसे मिले नहीं।” ठाकुर के दावे पर जब आईएएनएस ने मंत्री से बात करनी चाही तो उनके निजी सचिव लक्ष्मीनारायण ने आईएएनएस को बताया, “मंत्री चंडीगढ़ में हैं और उनसे बात करना संभव नहीं है।” हरियाणा में भाजपा नेता सीबीआई द्वारा कक्षा-2 के छात्र की हत्या में उसी स्कूल के 11वीं कक्षा के छात्र को दोषी ठहराए जाने को लेकर विभाजित हैं।

Advertisements