अपराधियों ने स्‍कूल संचालक से रंगदारी लेने के लिए बच्‍चों से भरी स्‍कूल वैन को रोककर आग लगा दी। राहत की बात यह रही कि वैन को फूंकने के पहले उन्‍होंने बच्‍चों को नीचे उतार दिया। इस बीच एक बच्चे के अपहरण की अफवाह फैलने से अभिभावक दहशत में रहे। घटना औरंगाबाद जिला के सोहरबिगहा गांव के पास मंगलवार को हुई।

जानकारी के अनुसार कुटुंबा थाना के तुरता गांव से बच्चों को लेकर संत जोसेफ स्‍कूल की वैन अंबा जा रही थी। रास्‍ते में सोहरबिगहा गांव के पास बाइक सवार अपराधियों ने उसे ओवरटेक कर रोक दिया। उन्‍होंने स्‍कूल वैन पर सवार आठ बच्चों को नीचे उतार दिया। फिर, पेट्रोल छिड़क बस में आग लगा दी।

अपराधियों ने वैन संचालक सह चालक मंटू सिंह की मोबाइल छीन ली। वैन में आग लगाकर वे बाइक पर सवार हो फायरिंग करते हुए भाग निकले। जाते-जाते अपराधियों ने बस चालक को धमकी देते हुए कहा कि स्कूल संचालक को कह देना कि वो मिले।

स्‍कूल वैन संचालक मंटू सिंह ने घटना की जानकारी स्कूल प्रबंधन को दी। स्‍कूल प्रबंधन की सूचना पर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घटना की पड़ताल की। स्‍कूल संचालक दिलीप प्रसाद गुप्ता व निदेशक अनूप कुमार ने बताया कि सभी बच्चों को सुरक्षित स्कूल व उनके घर पहुंचा दिया गया। हालांकि, इसके पहले एक बच्‍चे के अपहरण की अफवाह भी तेजी से फैली, जिस कारण अभिभावक दहशत में रहे।

स्‍कूल के निदेशक अनूप कुमार ने पुलिस को बताया कि घटना के बाद उन्‍हें एक फोन आया था, जिसमें मिलने को कहा गया। उन्‍होंने बताया कि फोन करने वाले अपराधी ने मिलकर रहने की बात करते हुए धमकी दी कि ऐकसा नहीं करने पर स्‍कूल चलाना संभव नहीं है। स्‍कूल संचालक के अनुसार यह रंगदारी की मांग के लिए दबाव बनाने का मामला है। एसडीपीओ पीएन साहू ने बताया कि पुलिस ने आरोपित की पहचान कर ली है।
पहले हुई थी गोलीबारी
विदित हो कि स्कूल संचालक दिलीप कुमार गुप्ता पर इसी वर्ष जून माह में अपराधियों ने गोलीबारी की थी। बाद में सामजिक पहल से मामला शांत हुआ था। पुलिस अपने अनुसंधान में उस घटना को भी शामिल करके चल रही है।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *