आखिर बिहार के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल पटना मेडिकल कॉलेज और अस्पताल (पीएमसीएच) से इतनी शिकायतें क्यों सुनने को मिलती हैं? आखिर राज्य के सबसे बड़े अस्पताल में भी क्यों मरीजों को दर-दर भटकना पड़ता है और उनको इलाज नहीं मिल पाता?

इन सभी सवालों का जवाब जानने के लिए मंगलवार रात स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे पीएमसीएच का दौरा करेंगे. वो इस बात का जायजा लेंगे कि सूरज ढल जाने के बाद अस्पतालों में किस तरीके की मुश्किलों का सामना मरीजों को करना पड़ता है. जानकारी के मुताबिक मंगल पांडे शाम के 8 बजे से रात्रि 12 बजे तक पीएमसीएच में ही रहेंगे.

PM के प्राचार्य डॉक्टर विजय कुमार गुप्ता ने जानकारी दी कि स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे एक- एक करके पीएमसीएच के सभी अस्पतालों का निरीक्षण करेंगे. स्वास्थ्य मंत्री के इस दौरे की जानकारी पीएमसीएच के सभी सीनियर और जूनियर डॉक्टरों को दे दी गई है.

गौरतलब है कि पीएमसीएच के इमरजेंसी वॉर्ड से निरंतर मरीजों की शिकायत सरकार को मिलती रहती है. फिलहाल पीएमसीएच के इमरजेंसी वॉर्ड में केवल 100 बेड की सुविधा है मगर जनवरी तक यह अतिरिक्त की सुविधा उपलब्ध हो जाएगी और इसके लिए निर्माण कार्य भी चल रहा है.

स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे के मंगलवार रात पीएमसीएच में बिताने के कार्यक्रम को पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव के उस हमले से जोड़कर भी देखा जा रहा है जहां उन्होंने कहा था कि बिहार में स्वास्थ्य व्यवस्था चरमरा गई है और स्वास्थ्य मंत्री हिमाचल प्रदेश के दौरे पर हैं. दरअसल बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे हिमाचल प्रदेश के बीजेपी प्रभारी भी हैं और पिछले दिनों वहां संपन्न हुए चुनाव को लेकर काफी दिनों तक हिमाचल प्रदेश के ही दौरे पर रहे.

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *