बिहार कांग्रेस में टूट की अफवाहों के बीच कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी के कुछ विधायकों और विधान पार्षदों को दिल्ली तलब किया है, लेकिन बिहार कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सदानंद सिंह दिल्ली नहीं गए हैं। कांग्रेस विधायक दल के नेता सदानंद सिंह ने तबियत खराब का हवाला देकर कहा कि वो दिल्ली नहीं जा रहे हैं।

 

उन्होंने कहा कि पार्टी आलाकमान से हमारी मुलाकात हो चुकी है और इस बात में सच्चाई नहीं है कि कांग्रेस के विधायक टूट रहे हैं। मेरी मुलाकात सोनिया गांधी जी से हो चुकी है और मैंने उनसे मिलकर अपनी सारी प्रॉब्लेम बता दी है।

 

माना जा रहा है कि आज शाम बुलाए गए विधायकों से राहुल गांधी मुलाकात करेंगे और कुछ विधायकों से कल भी मिलेंगे। माना जा रहा है कि राहुल ने पार्टी में टूट की अफवाहों को लेकर नेताओं से उनका पक्ष जानने के लिए विधायकों को दिल्ली तलब किया है।

 

बिहार के महागठबंधन टूटने के बाद से कांग्रेस के असंतुष्ट नेता पार्टी छोडऩे की जुगत में हैं। जबकि एक खेमा पार्टी को एकजुट रखने की कोशिश में लगा है। अभी हाल ही में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने बिहार कांग्रेस विधायक दल के नेता सदानंद सिंह और प्रदेश अध्यक्ष डॉ. अशोक चौधरी को दिल्ली तलब किया था।

 

कांग्रेस अध्यक्ष ने गुलाम नबी आजाद, अहमद पटेल की मौजूदगी में बिहार कांग्रेस के दोनों नेताओं से अलग-अलग मुलाकात की और बिहार के राजनीतिक हालात की जानकारी ली थी। दोनों नेताओं ने कांग्रेस अध्यक्ष को आश्वस्त किया था कि पार्टी में टूट जैसी कोई बात नहीं।

 

वरिष्ठ नेताओं की कांग्रेस अध्यक्ष से मुलाकात के बाद अब पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी के कार्यालय से सीधे कुछ विधायकों को फोन कर दिल्ली तलब किया गया है। सूत्रों ने बताया कि अब तक आठ से दस विधायकों को फोन आए हैं। जिन्हें बुधवार को ही दिल्ली पहुंचने के निर्देश दिए गए हैं।

 

सदाकत आश्रम के कुछ वरिष्ठ सूत्रों ने बताया कि प्रदेश अध्यक्ष विरोधी खेमे ने राहुल गांधी से दिल्ली में मुलाकात कर उन्हें जानकारी दी थी कि कुछ विधायक मुलाकात करना चाहते हैं। जिसके बाद राहुल की सहमति पर ऐसे विधायकों को दिल्ली तलब किया जा रहा है।

 

संभावना जताई गई है कि पार्टी के विधायकों से मुलाकात कर राहुल गांधी बिहार में पार्टी की टूट की चर्चाओं पर बात करेंगे और विधायकों का पक्ष जानेंगे। इस मसले पर प्रदेश अध्यक्ष से बात करने की कोशिश की गई परन्तु उनका पक्ष प्राप्त नहीं हो सका।

Advertisements

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *