भागलपुर:दहेज के लिए पत्नी को पिलाया एसिड,इलाज के दौरान पटना में हुई मौत

अकबरनगर थाना क्षेत्र के इंग्लिश चिचरौन गांव में दहेज के लिए ससुराल वालों ने विवाहिता रजनी कुमारी को एसिड पिला दिया. पटना के श्रीराम हॉस्पिटल में इलाज के दौरान रविवार को उसकी मौत हो गयी.

 

इसके बाद ससुराल वाले शव छोड़ कर अस्पताल से फरार हो गये. रविवार को नाथनगर के हजारी साह लेन निवासी मृतका की मां नीलम देवी व भाई पंकज कुमार ने इसकी सूचना अकबरनगर के थानाध्यक्ष को दी. मृतका की मां ने बताया कि रजनी से उसके ससुराल वाले दहेज लाने को कहते थे. इसके लिए वे उसके साथ मारपीट करते थे. 31 मार्च को उन लोगों ने क्रूरता की सारी सीमाएं तोड़ दीं.

 

उन लोगों ने रजनी को पहले जम कर पीटा, फिर उसे एसिड पिला दिया. गंभीर हालत में उसे मायागंज अस्पताल, भागलपुर में भर्ती कराया गया, जहां उसने पुलिस को भी बयान दिया था. उसके ससुराल वाले बेहतर इलाज कराने की बात कह कर उसे पटना के पारस हॉस्पिटल ले गये.

 

फिर दो अप्रैल को उसे वहीं के न्यू मौर्या हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया. स्थिति बिगड़ने पर चार दिन पहले उसे श्रीराम हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया. वहां उसका इलाज नहीं किया गया. अंतत: रविवार को उसकी मौत हो गयी. इसके बाद शव छोड़ कर उसके पति धरमवीर भास्कर, सास मीरा देवी, देवर कर्मवीर रजक, ननद प्रतिमा कुमारी और अन्य परिजन फरार हो गये. रजनी भागलपुर के बीएन कॉलेज में पार्ट वन में पढ़ती थी. उसका पति धरमवीर भास्कर पूर्व में मुंगेर के एसपी का बॉडीगार्ड था.

 

क्या कहते हैं थानाध्यक्ष:

 

थानाध्यक्ष विकास कुमार सिंह ने बताया कि इलाज के दौरान विवाहिता ने बरारी पुलिस को फर्द बयान दिया था, जिसके आधार पर उसके पति, सास, ननद व गोतनी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी है. मामले की छानबीन की जा रही है.

 

– रजनी के बेटे को भी ससुराल वालों ने रखा है कब्जे में, मैनेज करने का डाल रहे दबाव

 

रजनी के भाई ने बताया कि उसके ससुराल वालों ने उसके 14 माह के बेटे हर्ष को अपने कब्जे में रख लिया है. जब रजनी के पति को फोन कर उससे बच्चा मांगा, तो उसने कहा कि मैनेज कर लो, नहीं तो अंजाम भुगतना होगा. रजनी के परिजनों का कहना है कि अंतिम संस्कार के लिए उसके बेटे की जरूरत होगी.

 

– पति का दूसरी लड़की से चल रहा है प्रेम प्रसंग:

 

इंग्लिश चिचरौन गांव के स्व महेश्वर रजक के पुत्र धरमवीर भास्कर की शादी नाथनगर, हजारी साह लेन निवासी सतीश रजक की पुत्री रजनी कुमारी के साथ तीन मार्च 2014 को हुई थी. धरमवीर पूर्व में मुंगेर के एसपी का बॉडीगार्ड था. रजनी के परिजनों का कहना है कि उसके ससुराल वाले दहेज में तीन लाख रुपये और फोर व्हीलर गाड़ी की मांग करते थे. शादी के बाद से ही इसके लिये वे लोग रजनी को पति प्रताड़ित करते थे.

 

अक्सर मारपीट कर घर से भगा देते थे. रजनी के पति का दूसरी लड़की से प्रेम-प्रसंग चल रहा है. इसका रजनी विरोध करती थी. घटना के तीन दिन पहले उन लोगों ने रजनी को घर में बंद कर पीटा था. भूखे-प्यासे रखने के बाद उसे एसिड पिला दिया गया.

 

अस्पताल में बंधक बना कर रखा गया है रजनी का शव, कहा

 

1.30 लाख रुपये लाओ, तभी मिलेगा शव

 

अस्पताल में रजनी की मौत हो जाने के बाद उसके पति ने उसके मायके वालों को जानकारी दी और अस्पताल से शव ले जाने को कहा. मृतका की मां नीलम देवी व भाई पंकज कुमार ने बताया कि रजनी का शव लाने जब हमलोग पटना के श्रीराम हॉस्पिटल गये, तो अस्पताल प्रबंधक ने कहा कि इलाज के 1.30 लाख रुपये बकाया हैं. पहले पैसे लाओ, तभी शव ले जाने दिया जायेगा.

 

शव को अस्पताल में बंधक बना कर रखा गया है. मृतका के परिजनों ने अकबरनगर थाना को यह जानकारी देकर पुलिस से शव दिलाने की गुहार लगायी है. मृतका के परिजनों ने बताया कि हमलोग आर्थिक रूप से कमजोर हैं. 1.30 लाख रुपये कहां से लायेंगे. थानाध्यक्ष विकास कुमार सिंह ने कहा कि अस्पताल प्रबंधक से संपर्क कर शव दिलाने का प्रयास कराया जा रहा है.

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *