भागलपुर जिले में इंटर में पढ़ने वाली एक 18 साल की लड़की का उसके ही गांव के एक लड़के ने अपने फ्रेंड की हेल्प से मंगलवार को किडनैप कर लिया। दिनभर उसे तिलकामांझी स्थित शीशमहल होटल की गली में एक मकान में रखा और दोस्तों के साथ मिलकर उसके साथ दुष्कर्म किया और फिर छोड़कर भाग खड़ा हुआ।

 

बुधवार को पीड़िता ने सुसाइड नोट लिखकर पंखे से फांसी लगाकर सुसाइड कर ली। लड़की ने नोट में लिखा है कि “तुम दोनों ने मुझे जीने लायक नहीं छोड़ा। मेरे साथ बहुत अच्छा काम किया, इसलिए मैं जा रही हूं। सबौर पुलिस ने मामले का केस दर्ज कर लिया है और जांच कर रही है।

 

कॉलेज से लौटते समय किया था किडनैप

मंगलवार को लड़की दोपहर 1 बजे अपने कॉलेज से लौट रही थी। इसी बीच उसके गांव का ही मृत्युंजय कुमार यादव अपने दोस्त राहुल कुमार के साथ बाइक से आ रहा था। उसने लड़की को जाते देखा तो मृत्युंजय ने लड़की को बहला-फुसलाकर बाइक पर बैठा लिया। तीनों तिलकामांझी क्षेत्र के शीशमहल होटल की गली के एक मकान में चले गए।

 

मकान में घुसते ही मृत्युंजय और राहुल की बदनीयती समझकर लड़की ने वहां से भागने की कोशिश की लेकिन दोनों युवकों ने उसे दबोच लिया और उसके साथ दिनभर गैंगरेप किया। जब लड़की बेहोश हो गई तो उन्होंने उसे बाइक पर रखा और शाम को गांव के पास फेंककर चले गए।

 

जब लड़की को होश आया तो उसने घर जाकर अपनी मां को पूरी बात बताई। इसके बाद उसकी फैमिली ने सामाजिक स्तर पर ही मामले को सुलझाने का फैसला किया और पंचायत बुलाकर मामले को निपटाने की कोशिश की। घरवालों का रवैया देखकर वह इतनी आबत हुई कि उसने अपना दुपट्टा पंखे से बांधा और उससे झूल गई।

 

घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस लड़की के घर पहुंची। सबौर थानेदार राजीव कुमार ने बताया कि लड़की के कमरे से सुसाइड नोट मिला है। इसमें उसने उक्त दोनों युवकों को जिम्मेदार ठहराया है। लड़की ने लिखा है कि तुम दोनों ने मुझे जीने लायक नहीं छोड़ा। समाज को मुंह दिखाने के लायक नहीं छोड़ा। तुम लोगों ने मेरे साथ बहुत अच्छा काम किया है, मैं जा रही हूं। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *