भागलपुर:बाइक लगाने के विवाद में दुकानदार को हथौड़ी से मारा, स्क्रूड्राइवर से सिर गोदा

भागलपुर:बाइक लगाने के विवाद में दुकानदार को हथौड़ी से मारा, स्क्रूड्राइवर से सिर गोदा

13th September 2018 0 By Kumar Aditya

 

दुस्साहस|जेल रोड पर स्टेट बैंक के सामने हुई यह वारदात, देखते रहे लोग

 

जेल रोड में एसबीआई बरारी शाखा के सामने बुधवार शाम को दुकान के आगे बाइक लगाने  के विवाद में जवारीपुर निवासी पान दुकानदार  दीपक यादव को बीच सड़क पर हथौड़ी से  मार दिया और स्क्रू ड्राइवर से सिर गोद डाला।  गंभीर हालत में दीपक को मायागंज अस्पताल  में भर्ती कराया गया है। जिसे गंभीर होने पर  सिलिगुड़ी रेफर किया गया है। घटना के बाद  इलाके में तनाव है और एक पक्ष के लोगों ने  अपनी-अपनी दुकानें बंद कर फरार हो गए।  मारपीट की पूरी घटना किसी ने मोबाइल में  कैद कर ली। जिसमें बैंक के सामने बाइक  रिपेयरिंग करने वाले दुकान के स्टाफ ने स्क्रू ड्राइवर से दीपक को मारा है। हाथ में स्क्रू ड्राइवर लेकर लहराते हुए स्टाफ की वीडियो  भी वायरल हुई है। पुलिस वीडियो के आधार  पर आरोपी युवक की तलाश कर रही है। वह बरहपुरा का रहने वाला बताया गया है। उधर,  दीपक ने बताया जवारीपुर काली स्थान के  पास उसकी पान की दुकान है। किसी काम  से वह बैंक के सामने गया था और बाइक  रिपेयरिंग करने वाले दुकान के आगे उन्होंने  गाड़ी खड़ी कर दी। इस पर दुकान का स्टाफ  स्क्रू ड्राइवर, प्लास, हथौड़ी लेकर दीपक  यादव को मारने दौड़ गया। स्क्रू ड्राइवर लेकर मार करने जाता बाइक रिपेयरिंग

घटना के बाद जवारीपुर के लोग हुए आक्रोशित, बनीं तनाव की स्थिति घटना के बाद जवारीपुर के लोग आक्रोशित हो गए और  मौके पर पहुंच गए। तब तक बैंक के सामने के सामने  के सारे दुकानदारों ने धड़ाधड़ अपनी शटर गिरा दी। लोगों  का कहना है कि कार डेकोरेशन, बाइक रिपेयरिंग करने  वाले दुकानदार और उसके स्टाफ अक्सर लोगों के साथ  ऐसा करते हैं। घटना की जानकारी पाकर तिलकामांझी  थानेदार संजय कुमार सत्यार्थी मौके पर पहुंच मामले की  जांच की।

पुलिस ने आने में की देरी, भाग गया आरोपी दुकान के स्टाफ ने सामने से दीपक से सिर पर पहले  हथौड़ी और प्लास से मारा। फिर स्क्रू ड्राइवर लेकर उसका  सिर गोद दिया। कई लोगों के सामने यह घटना घटी,  लेकिन किसी ने दीपक को बचाया नहीं। मोहल्ले के एक  युवक ने हिम्मत दिखाई और स्क्रू ड्राइवर लिये दुकान  के स्टाफ को पकड़ लिया और तिलकामांझी पुलिस को  सूचना दी। लेकिन पुलिस ने आने में देरी कर दी, इस कारण स्टाफ भाग गया। जबकि घटनास्थल से थाना  बिल्कुल पास में है।

Advertisements