भागलपुर:-कभी भी गिर सकता है सिकंदरपुर का जलमीनार,निगम ने खतरनाक घोषित किया,फिर भी नहीं हटाया जा रहा

भागलपुर:-कभी भी गिर सकता है सिकंदरपुर का जलमीनार,निगम ने खतरनाक घोषित किया,फिर भी नहीं हटाया जा रहा

26th October 2018 0 By Kumar Ashwini

भागलपुर:- सिकंदरपुर का जलमीनार मोहल्ले वासियों के लिए जानलेवा बन चुकी है। चार दशक पुराना जलमीनार जर्जर अवस्था में पहुंच गई है। नगर निगम ने भी खतरनाक घोषित कर रखा है। इसका मलवा आए दिन तीस फीट की ऊंचाई से गिर रहा है। आसपास के घर और रास्ता भी मलवा गिरने से प्रभावित है। कब किसके ऊपर गिर जाए इसको लेकर राहगीर आशंकित रहते है। जिस परिसर में जलमीनार है वहां नगर निगम ने सफाई व्यवस्था के लिए शहर के दक्षिणी क्षेत्र का जोनल कार्यालय बना रखा है। यहां रहने वाले निगम कर्मियों की जान हर समय खतरे में है।

दरअसल इसके पीछे पैन इंडिया जिम्मेवार है। जर्जर जलमीनार को तोड़कर यहां जलापूर्ति योजना के तहत नए जलमीनार का निर्माण करना है। पैन इंडिया को जलमीनार तोडऩे के लिए नगर निगम ने आदेश भी दे रखा है। न तो यहां जलमीनार का निर्माण कर रही है और न ही तोडऩे की कवायद। कुव्यवस्था के बीच पैन इंडिया शहरवासियों के जान के साथ खिलवाड़ करने पर तुली हुई है। अगर ऐसी ही स्थिति रही तो बड़ी घटना से इंकार नहीं किया जा सकता है। पांच माह पूर्व छज्जा का एक हिस्सा गिरने के बाद अफरा-तफरी का माहौल बन गया था।

जोनल प्रभारी हसन खां ने बताया कि जलमीनार का उपरी हिस्सा जर्जर हो चुका है। आए दिन मलवा के गिरने की घटना से कर्मियों में भय का माहौल है। स्थानीय दीपक कुमार ने बताया कि जलमीनार परिसर मतदान केंद्र बनाया जाता है। निगम चुनाव में मलवा गिरने से अफरा-तफरी का माहौल बन गया था। जलकल अधीक्षक ने बताया कि जर्जर जलमीनार को तोडऩे के लिए चार माह पूर्व निगम से आदेश जारी किया गया है। पैन इंडिया को पुराने जलमीनार को तोड़कर उसी स्थान पर नया निर्माण के लिए पत्र भेजा गया है। इधर पैन इंडिया के परियोजना निदेशक राजीव मिश्रा के मोबाइल पर संपर्क किया गया, लेकिन व्यस्तता की बात कह कुछ भी बताने से परहेज किया।

Advertisements