BHAGALPUR Bhojpuri Film Bollywood Entertainment

भागलपुर की इस लड़की ने छोटे परदे पर बनाई अपनी खास पहचान

भोजपुरी फ़िल्मों की प्रसिद्ध अदाकारा स्मृति सिन्हा छोटे परदे का भी परिचित चेहरा हैं। वो ‘सपना बाबुल का’ ‘विदाई’, ‘सूर्यपुत्र कर्ण’ जैसे धारावाहिकों का अहम हिस्सा रही हैं।
स्मृति बिहार के भागलपुर से हैं। अपनी माटी से वो गहरा जुड़ाव महसूस करती हैं। भोजपुरी फ़िल्मों की प्रसिद्ध अदाकारा स्मृति सिन्हा छोटे परदे का भी परिचित चेहरा हैं।

वह ‘सपना बाबुल का’ ‘विदाई’, ‘सूर्यपुत्र कर्ण’ जैसे धारावाहिकों का अहम हिस्सा रही हैं। स्मृति बिहार के भागलपुर से हैं। अपनी माटी से वो गहरा जुड़ाव महसूस करती हैं।
स्मृति कहती हैं मैं बिहार के भागलपुर से हूं। वहीं मेरी पढ़ाई-लिखाई हुई है। मेरा घर, परिवार और रिश्तेदार सब वहीं हैं। बहुत गहरा नाता है मेरा अपनी माटी से। अपने घर से अच्छी दुनिया में कौन-सी जगह हो सकती है।
बिहार गई हूं तो भागलपुर जाना ही है मुझे। वहीं की पैदाइश है। पढ़ाई भी वहीं से हुई है। सब-कुछ बहुत अपना-अपना-सा लगता है। वहां की हर जगह से यादें जुड़ी हैं।
हम सभी के लिए अपने बचपन की याद बहुत ख़ास होती है। पसंदीदा खाने की बात करूं तो बिहार के चूड़ा दही की बात ही अलग है। अपने यहां का जो कतरनी चूड़ा है मुझे नहीं लगता कि वह आपको कहीं और मिल सकता है।

दूसरे राज्यों के लोगों में बिहारियों को लेकर एक अलग ही मानसिकता है। कई बार ऐसा हुआ है कि जब मैं लोगों से मिलती हूं और जब उन्हें मैं बताती हूं कि मैं बिहार से हूं तो उनका कहना होता है कि आप बिहार से हैं आपको देखकर तो ऐसा लगता ही नहीं है। तब मेरा जवाब होता है कि क्या बिहारियों के सींग होते हैं, जो मेरे सिर पर नहीं दिख रहे? सब लोगों ने अपने मन में एक अलग ही धारणा बिहारियों को लेकर बना ली है।वह धारणा हम बिहारी ही तोड़ सकते हैं। यक़ीनन, बिहारियों की कुछ बातें हैं जो उन्हें दूसरों से अलग करती हैं। हम बहुत फ़ोकस्ड होकर काम करते हैं।हमें सिर्फ़ अपना टारगेट अचीव करना आता है बल्कि उसे कितने समय में हमें अचीव करना है, यह भी हमें ख़ूब पता है।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *