BHAGALPUR Bihar State TOP NEWS

भागलपुर के सप्लाई पानी में टॉक्सिक, ज्यादा सेवन से हो सकता है कैंसर

बरारी वाटर व‌र्क्स से सप्लाई की जाने वाली पानी में टॉक्सिक और कारसिनोजेनिक जैसे हानिकारक रसायन की मात्रा पाई गई है। इसके अधिक सेवन से कैंसर भी हो सकता है। लोग टाइफाइड, जॉन्डिस, डायरिया की भी चपेट में आ सकते हैं।

 

दिल्ली की नासिंद इंजीनिय¨रग सर्विस द्वारा आठ जनवरी को नगर आयुक्त को भेजी गई जांच रिपोर्ट पढ़ने के बाद निगम और पैन इंडिया के अधिकारियों के होश उड़ गए हैं।

 

बताया गया कि पैन इंडिया स्वच्छ पेयजल के नाम पर दो लाख से अधिक लोगों को हानिकारक रसायन युक्त पानी सप्लाई कर रही है। वाटर व‌र्क्स में शोधन के बाद भी पानी से रसायन की मात्रा नहीं निकल पा रही। पैन इंडिया 32 में से मात्र चार मानकों पर पानी की जांच करती है। यहां सिर्फ टीडीएस और क्लोरीन की जांच होती है।

 

इधर, भागलपुर की पेयजल समस्या को नगर विकास व आवास मंत्री सुरेश शर्मा ने भी गंभीरता से लिया है। उन्होंने कहा कि शहर में पेयजल की समस्या नहीं होने दी जाएगी। वैकल्पिक व्यवस्था की जाएगी।

 

वाटर व‌र्क्स के पानी का लिया था सैंपल

 

एक माह पूर्व दिल्ली की चार सदस्यीय टीम वाटर व‌र्क्स के पानी का सैम्पल जांच के लिए ले गई थी। रिपोर्ट आठ जनवरी को आई। जिसमें सप्लाई पानी में हानिकारक रसायन की मात्रा मिली। साथ ही पैन इंडिया के झूठे दावों की भी पोल खुल गई।

 

सीधे गंगा में प्रवाहित होता है नाले का पानी

 

दरअसल, शहर के 80 से अधिक छोटे बड़े नालों का पानी सीधे चंपा नदी में प्रवाहित करने से गंगा का पानी तेजी से दूषित हो रहा है। नाथनगर और चंपानगर में कपड़ों की रंगाई में इस्तेमाल रसायनयुक्त पानी को बिना ट्रीटमेंट किए प्रवाहित कर दिया जाता है। जिस कारण शोधन के बाद भी कैमिकल का अंश पानी से नहीं निकल पा रहा है।

 

रिपोर्ट नहीं रहती सुरक्षित

 

पैन इंडिया 15 दिनों में पांच बार ही पानी का सैंपल जांच के लिए पीएचईडी विभाग भेजती है। लैब में कोई ऐसा उपकरण नहीं है जो पानी की गुणवत्ता रिपोर्ट को सुरक्षित रख सके। दिल्ली की जांच रिपोर्ट में खुलासा हुआ है पैन इंडिया की प्रयोगशाला गुणवत्तापूर्ण जांच में सक्षम नहीं है।

 

—————

 

कोट :-

 

रिपोर्ट में टॉक्सिन की संभावना जताई गई है। इससे पेट की बीमारी हो सकती है। मात्रा अधिक होने पर कैंसर भी हो सकता है। दूषित पानी के सेवन से शहरवासी टाइफाइड, जॉन्डिस, डायरिया से पीड़ित हो सकते हैं।

 

– डॉ. अनु, फिजीशियन

 

————

 

इनसेट :-

 

प्रधान सचिव के साथ बैठक कर समस्या का हल निकालेंगे मंत्री

 

– फिलहाल, सबमर्सिबल का किया जाएगा इंतजाम, अन्य विकल्पों पर लिया जाएगा निर्णय

 

वाटर व‌र्क्स से नाले के पानी को शोधन कर आपूर्ति करने के मामले को नगर विकास व आवास मंत्री सुरेश शर्मा ने गंभीरता से लिया है। उन्होंने बुधवार को दैनिक जागरण से कहा कि दिल्ली प्रवास के क्रम में निजी सहायक ने भागलपुर में पेयजल संकट की जानकारी दी है। इस संबंध में प्रधान सचिव से बात हुई है। पेयजल की समस्या नहीं होने दी जाएगी। वैकल्पिक व्यवस्था की जाएगी। मंत्री ने कहा कि गुरुवार को प्रधान सचिव के साथ बैठक कर समस्या का समाधान किया जाएगा। सबमर्सिबल का अविलंब इंतजाम किया जाएगा। अन्य विकल्पों पर बैठक में निर्णय लिया जाएगा।

 

———————

 

बड़ा खुलासा

 

– 32 में से मात्र चार मानकों पर ही पानी की जांच करती है पैन इंडिया

 

– टीडीएस व क्लोरीन की जांच के लिए बनाई है लैब

 

– 15 एमएलडी पानी प्रत्येक दिन वाटर व‌र्क्स से शहर को की जाती है सप्लाई

 

पैन इंडिया के विरोध में सीएम से करेंगे शिकायत : मेयर

 

मेयर सीमा साहा ने कहा कि शहरवासियों को शुद्ध जल आपूर्ति करने की जिम्मेदारी बुडको और पैन इंडिया को सौंपी गई है। नगर आयुक्त के पास पानी की जांच रिपोर्ट आई है। रिपोर्ट को देखने के बाद मुख्यमंत्री से पैन इंडिया के कार्यशैली की शिकायत की जाएगी। वैकल्पिक व्यवस्था के लिओए वार्ड में प्याऊ निर्माण पर विचार किया जा रहा है।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *