भागलपुर में अपने ट्यूटर से प्रेम विवाह करने वाली लड़की के परिजन ऐसे भड़के कि उसके पति को दी खौफनाक सजा।
प्रेम प्रसंग में शादी से नाराज लड़की पक्ष के लोगों ने सोमवार की शाम कजरैली थाना क्षेत्र के गोराचक्की गांव में हिमांशु यादव (26 वर्ष) को घर से खींचकर गोलियों से भून डाला और घर के लोगों की भी जमकर पिटाई कर दी। घायल हिमांशु की मां को मायागंज अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सूचना मिलने पर एसएसपी मौके पर पहुंचे और घटना की जांच की। आरोपी पक्ष के लोग घर से फरार हैं।

हिमांशु यादव पड़ोस के ही परमानंद यादव की बेटी सोनी कुमारी को ट्यूशन पढ़ाता था। इसी दौरान दोनों के बीच प्रेम हो गया। 24 अगस्त, 2016 को दोनों घर से भाग निकले। इसकी रिपोर्ट भी थाने में दर्ज कराई गई। पुलिस ने लड़की को बरामद कर कोर्ट में बयान कराने के बाद परिवारवालों को सौंप दिया था। हिमांशु घटना के बाद से फरार था।

20 अप्रैल को परमानंद यादव की बड़ी बेटी की शादी थी। उसी रात सोनी घर से भाग गई और हिमांशु के साथ शादी कर दिल्ली में रहने लगी। परिवारवालों ने इसकी जानकारी कजरैली थाने को नहीं दी। हिमांशु के पिता मिताराम यादव ने बताया कि पंचायती के नाम पर दोनों को दो सप्ताह पहले घर बुलाया गया। दोनों घर में रहने लगे। सोमवार दोपहर पंचायत बुलाई गई।
पंचायत में हिमांशु के परिवारवालों का सामाजिक बहिष्कार का निर्णय लिया गया, लेकिन कुछ लोगों के उकसाने पर लड़की पक्ष के लोग उग्र हो गए और हरवे हथियार के साथ हिमांशु के घर पर हमला बोल दिया। हिमांशु को घर से खींचकर पहले पीटा गया। उसके बाद गोलियों से भून दिया।
पिटाई से घायल परिवार के लोग घर में पड़े रहे। खून से लथपथ हिमांशु को मायागंज अस्पताल लाया गया, लेकिन अस्पताल पहुंचकर उसने दम तोड़ दिया। परमानन्द यादव, अरूण यादव, वरूण यादव, विवेक यादव, गोकुल यादव, पंकज यादव और गणेश यादव पर हिंमाशु को गोली मारने का आरोप लगाया गया है। आरोपी गणेश यादव सजायाफ्ता है और दो दिन पहले ही जेल से छूटकर आया है।

एसएसपी मनोज कुमार ने कहा कि लड़की और लड़के पक्ष के लोग गोतिया हैं। पंचायत के बाद हत्या की गई है। घटना गंभीर है। आरोपी पक्ष घर से फरार है। पुलिस टीम छापेमारी कर रही है।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *