Advertisements

मानव तस्करी मामले में पांच साल से फरार आरोपी कहलगांव से हुआ गिरफ्तार

रविवार को दिल्ली में पत्नी की गिरफ्तारी के बाद बेटियों के साथ भागकर कहलगांव आया था रोहित मुनि कहलगांव दिल्ली में प्राइवेट संस्था चलानेकी आड़ में अपनी पत्नी के साथ मानव तस्करी मामले में 5 साल सेफरार आरोपी को पुलिस ने गुरुवार को उसके पैतृक गांव त्रिमुहान सेगिरफ्तार कर लिया। कहलगांव एसडीपीओ दिलनवाज अहमद के नेतृत्व में पुलिस ने यह कार्रवाई की। पांच साल पूर्व आरोपी रोहित मुनि और उसकी पत्नी प्रभा मिंज पर झारखंड के सिमडेगा थाने में तीन किशोरियों को दिल्ली लेजाकर बेचनेके आरोप में केस दर्ज किया गया था। इस मामले में बीते रविवार को उसकी पत्नी प्रभा मिंज को दिल्लीपुलिस की मदद सेसिमडेगा पुलिस नेगिरफ्तार किया था। लेकिन रोहित और उसकी दो बेटियां मौके से फरार हो गए थे। पुलिस को गुप्त सूचना मिली कि झारखंड के सिमडेगा थाना के मानव तस्करी मामले में फरार आरोपी रोहित मुनि अपनी बेटियों के साथ अपने पैतृक गांव त्रिमुहान आया है। इसके बाद कहलगांव और सिमडेगा पुलिस ने संयुक्त रूप सेछापेमारी के दौरान उसे दबोच लिया। हालांकि इस बीच उसकी बेटियों के साथ पुलिस की कहासुनी भी हुई। वेइसका विरोध कर रही थीं। गुरुवार को सब इंस्पेक्टर अरविंद कुमार सिंह के नेतृत्व में सिमडेगा पुलिस उसेसीजीएम कोर्ट में पेश करने के बाद रिमांड पर लेकर सिमडेगा चली गई। कहलगांव के त्रिमुहान से मानव तस्करी के आरोप में गिरफ्तार रोहित मुनि के बारे में जानकारी देते एसडीपीओ।आरोपी ने कहा-आरोप निराधार, सीआईडी से जांच कराने के लिए कोर्ट में दी है अर्जीगिरफ्तार रोहित मुनि ने बताया कि पत्नी प्रभा मिंज के साथ हम कामगार सर्वेक्षण समिति नामक संस्था चलातेहैं। जो लोगो को पेंशन दिलाने का काम करती है। मुझ पर लगाए गए आरोप झूठे व बेबुनियाद हैं। इस मामले में मैंनेसीआईडी से जांच कराने का आवेदन कोर्ट में दिया है। उसने बताया कि 1989 में कहलगांव के एक ट्रैक्टर गैरेज में हेल्पर था। एक गाड़ी मालिक की मदद से मैं दिल्लीचला गया। वहां दर्जी का काम करने लगा। इसी दौरान मेरी मुलाकात प्रभा से हुई और लगभग दो माह बाद हमनेशादी कर ली। मुझसे शादी करने के पूर्वप्रभा अपने पहलेपति के देहांत के बाद दिल्ली पुलिस में नौकरी करती थी। शादी के बाद मैने नौकरी छुड़वा दी।दिल्ली के वेस्ट पंजाबी बाग में परिवार के साथ रहता था रोहितगिरफ्तारी के बाद एसडीपीओ ने प्रेस वार्ता में बताया कि गिरफ्तार रोहित मुनि अपनी पत्नीप्रभा मिंज मुनि व दो बेटियों के साथ दिल्लीके वेस्ट पंजाबी बाग स्थित एक फ्लैट में रहता था। उसी फ्लैट में वह पत्नी के साथ कामगार सर्वेक्षण समिति नामक संस्था की आड़ में मानव तस्करी का धंधा करता था। पांच साल पूर्व वह झारखंड के सिमडेगा के तीन किशोरियों को काम दिलाने की लालच देकर दिल्ली लेकर गया और वहां उन्हें बेच दिया। उसनेप्रभा मिंज से 2000 में शादी की थी। उसे तीन बेटी और दो बेटे हैं।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *