मेडिकल कॉलेजों में बढ़ीं 601 PG सीटें,जानिए कहां बढ़ी कितनी सीट

एमबीबीएस करने के बाद परास्नातक की तैयारी कर रहे छात्र-छात्रओं के लिए अच्छी खबर है। केंद्र सरकार ने देश के 116 मेडिकल कॉलेजों में 601 पीजी की सीट बढ़ा दी है। इन बढ़ी हुई सीटों पर जल्द शुरू होने जा रही काउंसलिंग के जरिए प्रवेश दिया जाएगा।

 

सीटें बढ़ने से सबसे अधिक लाभ पश्चिम बंगाल को हुआ है, जहां 78 सीटें बढ़ी हैं। वहीं, उत्तर प्रदेश और बिहार में क्रमश: 29 और 11 सीटों का इजाफा हुआ है। इन 601 सीटों के बाद देश में पीजी पाठ्यक्रमों की सीट की कुल संख्या बढ़कर 29,300 हो जाएगी।

 

भारतीय चिकित्सा परिषद (एमसीआई) ने शिक्षक-छात्र अनुपात में संशोधन के बाद देश के 166 मेडिकल कॉलेजों में एमडी और एमएस की सीट बढ़ाने की अनुशंसा की थी। एमसीआई की अनुशंसा के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रलय ने संबंधित कॉलेजों की राज्य सरकारों से अधोसंरचना, बेड संख्या और फैकेल्टी संख्या में सुधार से जुड़ा आश्वासन पत्र मांगा था। मंत्रलय के सूत्रों के मुताबिक, अधिकतर राज्यों ने आश्वासन पत्र भेज दिया है। इसके बाद सोमवार से मंत्रलय की ओर से अनुमति पत्र जारी करने का काम शुरू कर दिया गया है। इन सभी बढ़ी सीटों पर इसी सप्ताह से शुरू होने जा रही पीजी काउंसलिंग के जरिए प्रवेश दिया जाएगा।

 

 

मालूम हो, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रलय ने वर्ष 2021 तक पीजी सीटों की संख्या में 8058 का इजाफा करने का लक्ष्य रखा है। इसमें पहले चरण में 4,058 सीटों का इजाफा होना है। इसके बाद देश में पीजी सीटों की संख्या बढ़कर 36,758 हो जाएगी। इसमें से बढ़ा हिस्सा नए एम्स के शुरू होने से बढ़ने वाली पीजी सीटों का होगा।

 

उत्तर प्रदेश

जेएनएमसी, अलीगढ़ : 02 एमडी रेडियोथिरेपी

एलएमएनएमसी, इलाहाबाद: 02 एमडी मेडिसिन, 02 एमडी पल्मनरी मेडिसिन

एसएनएमसी, आगरा: 01 एमडी पल्मनरी मेडिसिन

एसजीपीजीआई, लखनऊ: 02 एमडी रेडियोथिरेपी, 12 एमडी एनेस्थीसियोलॉजी, 04 एमडी न्यूक्लियर मेडिसिन

किंगजॉर्ज मेडिकल कॉलेज, लखनऊ: 04 एमडी साइकैट्री

 

बिहार

एएनएम मेडिकल कॉलेज, गया: 04 एमडी ओबीजीवाई

नालंदा मेडिकल कॉलेज, पटना: 02

एमडी ओबीजीवाई, 01 एमडी पीडियाट्रिक

04 एमएस ऑर्थोपैडिक

 

कहां बढ़ी कितनी सीटें

यूपी- 29

बिहार- 11

दिल्ली- 02

प. बंगाल- 78

केरल- 75

महाराष्ट्र-74

कर्नाटक- 60

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *