NATIONAL

मोदी सरकार पानी बचाने पर देगी 25 हजार का इनाम, जानिए क्‍या है पूरी स्‍कीम

प्रतियोगिता में पहले, दूसरे और तीसरे स्‍थानों के लिए क्रमश: 25000 रुपए, 15000रुपए, और 10000 रुपए की पुरस्‍कार राशि दी जाएगी. (प्रतीकात्‍मक फोटो)
जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्रालय की अनूठी पहल शुरू की है. इस पहल को ‘जल बचाओ, वीडियो बनाओ और पुरस्‍कार पाओ’ स्‍कीम का नाम दिया गया है.
नई दिल्‍ली: पानी की बचत अब आपके लिए हर तरफ से फायदे मंद बनने वाली है. पानी बचाकर आप पर्यावरण संरक्षण में अपना योगदान देंगे ही, साथ ही इस कोशिश के जरिए आप एक बड़ी रकम भी कमा सकते हैं. जी हां, जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्रालय की अनूठी पहल शुरू की है. इस पहल को ‘जल बचाओ, वीडियो बनाओ और पुरस्‍कार पाओ’ स्‍कीम का नाम दिया गया है. इस पहल के जरिए देश का कोई भी नागरिक जल संरक्षण को लेकर किए गए अपने प्रयासों का वीडियो बनाकर 25,000 रूपए तक का इनाम जीत सकता है.

मंत्रालय द्वारा शुरू की गई इस स्‍कीम का मकसद देश के सभी नागरिकों को जल संरक्षण तथा जल प्रबंधन के बाबत न केवल जागरूक करना है, बल्कि उन्‍हें जल संरक्षण से संबंधित प्रयासों से जोड़ना है. अपने इसी मकसद के तहत, जल संसाधन मंत्रालय ने ‘जल बचाओ – वीडियो बनाओ – पुरस्‍कार पाओ’ प्रतियोगिता शुरू की है. माई जीओवी पोर्टल (My Gov Portal) के साथ मिलकर शुरू की गई यह प्रतियोगिता पाक्षिक होगी.

मंत्रालय के अनुसार, इस पाक्षिक प्रतियोगिता की शुरूआत mygov.in के माध्‍यम से शुरु कर दी गई है. यह प्रतियोगिता 4 नवम्‍बर, 2018 तक जारी रहेगी. प्रतियोगिता का हिस्‍सा बनने के लिए प्रतियोगी को अपना वीडियो यू-ट्यूब (You Tube) पर अपलोड करना होगा. जिसके बाद, यू-ट्यूब पर अपलोड किए गए वीडियो के लिंक को www.mygov.in पर मौजूद का माई जीओवी प्रतियोगिता पृष्‍ठ के वीडियो लिंक सेक्शन पर डालना होगा.

मंत्रालय के अनुसार, प्रविष्टियों को सृजनात्‍मकता, मौलिकता, संरचना, तकनीकी उत्‍कृष्‍टता, कलात्‍मक योग्‍यता, वीडियो की गुणवत्ता, विषय और प्रभाव के आधार पर आंकलन किया जाएगा. प्रतियोगिता के तहत प्रत्येक पखवाड़े में तीन विजेताओं को चुना जाएगा. जिसमें पहले, दूसरे और तीसरे स्‍थानों के लिए क्रमश: 25000 रुपए, 15000रुपए, और 10000 रुपए की पुरस्‍कार राशि दी जाएगी.

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *