राष्ट्रीय स्वयंसेव संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने राम मंदिर को लेकर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने रविवार को कहा कि हम अयोध्या में ही राम मंदिर बनाएंगे. महाराष्ट्र के पालघर जिले के दहानू में विराट हिंदू सम्मेलन को संबोधित करते हुए भागवत ने कहा कि राम मंदिर ‘फिर से नहीं बनाया गया’ तो ‘हमारी संस्कृति की जड़ें’ कट जाएंगी.

आरएसएस प्रमुख ने कहा, ‘भारत में मुस्लिम समुदाय ने राम मंदिर नहीं तोड़ा. भारतीय नागरिक ऐसी चीजें नहीं कर सकते. भारतीयों का मनोबल तोड़ने के लिए विदेशी ताकतों ने मंदिरों को तोड़ा.’

उन्होंने कहा, ‘लेकिन आज हम आजाद हैं. हमें उसे फिर से बनाने का अधिकार है जिसे नष्ट किया गया था, क्योंकि वे सिर्फ मंदिर नहीं थे बल्कि हमारी पहचान के प्रतीक थे.

उन्होंने कहा कि इसमें कोई शक नहीं कि मंदिर वहीं बनाया जाएगा, जहां वह पहले था. आरएसएस प्रमुख ने विपक्षी पार्टियों पर निशाना साधते हुए उन्हें देश के कई हिस्सों में हुई हालिया जातिगत हिंसा के लिए जिम्मेदार ठहराया.

आपको बता दें एससी/एसटी एक्ट को कमजोर किये जाने के खिलाफ 2 अप्रैल को दलित आंदोलन में 11 लोगों की मौत हो गई थी. वहीं इसके विरोध में सवर्णों के आंदोलन के दौरान भी कई जगहों पर हिंसा हुई थी.

अयोध्या के राम मंदिर और बाबरी मस्जिद का मामला सुप्रीम कोर्ट में है. सभी दलों का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला जो भी आएगा उसे सभी पक्ष मानेंगे. वहीं कोर्ट के बाहर भी कई बार इस मसले को सुलझाने की कवायद हुई है. लेकिन अंतिम परिणाम तक नहीं पहुंचा जा सका है.

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *