आज यूपी में दूसरे दौर का चुनाव है. दूसरे चरण में पश्चिमी यूपी के 11 जिलों की 67 सीटों पर वोटिंग हो रही है. सुबह सात बजे से वोट पड़ने शुरू हो गए हैं. दूसरे चरण में भी मुस्लिम फैक्टर अहम है, क्योंकि यहां करीब 36 फीसद मुस्लिम मतदाता हैं. जो उम्मीदवारों की किस्मत तय करने में अहम भुमिका निभा सकते हैं. दूसरे चरण में कुल 720 उम्मीदवार मैदान में हैं, जिनमें से सबसे ज्यादा 22 उम्मीदवार बिजनौर की बरहापुर और सबसे कम चार उम्मीदवार अमरोहा की धनौरा सीट पर किस्मत आजमा रहे हैं.

LIVE UPDATES:
11 जिलों की 67 सीटों पर वोटिंग शुरू, पोलिंग बूथ पर सुबह से ही जुटने लगी है भीड़.बदायूं सदर में एसके इंटर कॉलेज में सुबह ईवीएम मशीन में कुछ खराबी आने के कारण कुछ देर के लिए वोटिंग रुक गई थी. हालांकि अब फिर से वोटिंग शुरू हो गई है.मुरादाबाद में बूथ नंबर 265 पर लोगों ने शिकायत की थी कि यहां वोटिंग का समय सुबह 7 बजे से था. लेकिन अब भी बूथ पर मशीनों को सेटिंग की जा रही है जिसकी वजह से वोटिंग नहीं हो रही है.

दूसरे चरण में इन 11 जिलों में हो रही है वोटिंग

सहारनपुर, बिजनौर, मुरादाबाद, संभल, रामपुर, अमरोहा, बदायूं, बरेली, पीलीभीत, शाहजहां और लखीमपुर खीमी.
पश्चिमी यूपी के 11 जिलों में 6 जिले मुस्लिम बहुल जिले हैं, इसमें से रामपुर में 51 फीसदी, मुरादाबाद में 47%, बिजनौर में 43%, सहारनपुर में 42%, अमरोहा में 41% और बरेली में 35 फीसदी मुसलमान हैं.

मुस्लिम वोटरों को अपने पाले में करने के लिए इस बार समाजवादी पार्टी-कांग्रेस गठबंधन और मायावती की बीएसपी में जोरदार मुकाबला हो रहा है. यही वजह है कि बीएसपी ने 26, एसपी-कांग्रेस गठबंधन ने 25 और आरएलडी ने 13 मुस्लिम उम्मीदवार उतारे हैं.

13 सीटें ऐसी हैं जहां एसपी-कांग्रेस और बीएसपी की ओर से मुस्लिम उम्मीदवार आमने-सामने हैं. चुनाव में अखिलेश और मायावती दोनों में खुद को मुस्लिम समाज का सबसे बड़ा हितैषी बताने की होड़ लगी है, लेकिन जिन्हें वोट देना है वो क्या सोच रहे हैं. अंदाजा लग रहा है कि मुस्लिम वोट का बंटवारा जरूर होगा.

यूपी के चुनाव में इस बार त्रिकोणीय मुकाबला हो रहा है, अखिलेश यादव और राहुल गांधी की जोड़ी का मुकाबला बीजेपी और बीएसपी से है. अखिलेश के सामने सत्ता में वापसी की चुनौती है. वहीं, बीजेपी और मायावती यूपी की सत्ता में वापसी की कोशिश कर रही हैं. 11 मार्च को चुनाव के नतीजे आऩे हैं. तब पता चलेगा कि जनता किसे पसंद करती है और किसका कौन सा कार्ड चलता है.

बता दें कि 11 फरवरी को पहले चरण के लिए पश्चिमी यूपी के 15 ज़िलों की 73 सीटों पर मतदान हुआ था. इस चरण में करीब 839 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला ईवीएम में कैद हो गया है. इस चरण में करीब 64 फीसदी वोट डाले गए थे. फिलहाल यहां की 73 सीटों में से 24 पर एसपी, 24 पर बीएसपी, 11 पर बीजेपी, 5 पर कांग्रेस और नौ सीटों पर आरएलडी का कब्ज़ा है.

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *