रंगदारी ना देने पर स्कूल संचालिका के साथ मारपीट

रंगदारी ना देने पर स्कूल संचालिका के साथ मारपीट

14th January 2019 0 By Raj Kumar

सहरसा।  शहर के शिवपुरी के समीप एक निजी स्कूल में जाकर अंधाधुंध फायरिंग करते हुए स्कूल संचालिका से डेढ़ लाख रंगदारी मांगने वाले दो अपराधी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। मुख्य आरोपी शशि यादव अब भी पुलिस की पकड़ से बाहर है। भय और दहशत के बीच जी रही स्कूल संचालिका सदर अस्पताल के बेड पर पड़ी है।

 

इधर शनिवार की शाम स्कूल पर अचानक धावा बोलकर फायरिंग करते हुए संचालिका की पिटाई का वीडियो वायरल होने के बाद एक बार फिर यह लगा कि शहर में उप्ताद मचाने वाले अपराधियों का मनोबल किस तरह बढ़ गया है। फिल्मी स्टाइल में स्कूल पर हमला कर दहशत फैलाया गया। रंगदारी मांगने वाले सभी बदमाश शिवपुरी एवं इसके आसपास के हैं। राधा नगर निवासी अपराधी शशि यादव ने स्कूल परिसर पहुंचकर तीन राउंड गोली चलाई। वहीं, स्कूल संचालिका को बेल्ट एवं लप्पड़-थप्पड़ से मारपीट कर जख्मी कर दिया।

 

35 हजार ले गए साथ
अपराधियों ने स्कूल के काउंटर में रखे 35 हजार रुपए लूट लिया । यह पैसा स्कूल में अभिभावकों ने बतौर फीस दिन में जमा किया था। घटना के बाद संचालिका और उनके पति काफी विलंब से सदर अस्पताल पहुंची। इसके बाद सदर अस्पताल से घटना की जानकारी पुलिस को मिली। सूचना पर प्रभारी सदर थाना अध्यक्ष अनिल कुमार मौके पर पहुंचे। जहां महिला का बयान दर्ज किया गया। रविवार की सुबह कांड में संलिप्त दो अपराधी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

 

आधे दर्जन अपराधियों ने की फायरिंग
घटना के बाबत पीड़ित केरला बोर्डिंग स्कूल की संचालिका रिया देवी ने बताया कि शनिवार की शाम वे अपने स्कूल के गेट पर खड़ी होकर एक परिचित से बात कर रही थी। इतने में आधे दर्जन की संख्या में आए अपराधियों ने फायरिंग शुरू कर दी। शशि यादव पिस्तौल लेकर अंधाधुंध गोली चलाने लगा। पीड़िता के अनुसार शशि यादव पहले से ही डेढ़ लाख रंगदारी मांगता था। उसके भय के कारण पुलिस को भी इसकी सूचना नहीं दे पाती थी। रंगदारी की राशि के लिए वह बार बार आकर जान मारने की धमकी देता था। शनिवार को वह अन्य अपराधियों के साथ आ धमका और हमला कर दिया ।

आरोपी पूर्व में भी जा चुका है जेल
शशि यादव इससे पूर्व भी चोरी के आरोप में जेल जा चुका है। अपराध के खिलाफ एसपी के पुतला दहन में भी अन्य लोगों के साथ वह शामिल था। सदर थाना के कोसी कॉलोनी का जर्जर सरकारी भवन अपराधियों की शरण स्थली है। वहीं शहर में लूटपाट , हत्या , राहजनी सहित अन्य आपराधिक घटना को अंजाम देने वाले अपराधी छिपते हैं । रविवार को भी पुलिस छापामारी में गिरफ्त में आए दोनों अपराधी विभीषण कुमार और श्रीकांत कुमार कोसी कॉलोनी के ही ऐसे ही जर्जर मकान में पुलिस की गिरफ्त में आया।

 

कोसी कॉलोनी से दो की हुई गिरफ्तारी
घटना दुखद है। पुलिस को भी देर से सूचना मिली थी। सूचना मिलते ही पुलिस ने कई जगह छापेमारी की है। जिसमें कांड में शामिल दो अपराधियों हकपाड़ा निवासी विभीषण कुमार और श्रीकांत कुमार की गिरफ्तारी कोसी कॉलोनी से की गई है। मुख्य आरोपी शशि यादव फरार है। राकेश कुमार, एसपी

Advertisements