Advertisements

लखीसराय में शराब के खिलाफ छापेमारी करने गयी पुलिस पर पथराव, दो पुलिसकर्मी घायल, 5 गिरफ्तार

बिहार के लखीसराय में नवस्थापित तेतरहट थाना क्षेत्र के झिनौरा गांव स्थित मुसहरी में शुक्रवार की देर रात शराब विक्रेता को पकड़ने गयी पुलिस पर ग्रामीणों ने चोर-चोर का शोर मचाते हुए पथराव कर दिया. जिससे छापेमारी करने गयी पुलिस बल का एक वाहन क्षतिग्रस्त हो गया. वहीं, इस घटना में पुलिस के दो जवान भी घायल हो गये. वहीं घटना के बाद जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने सरकारी कार्य में बाधा डालने के आरोप में पांच ग्रामीणों को गिरफ्तार कर लिया है.

 

घटना के संबंध में मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार की देर शाम झिनौरा गांव के पास से शराब बेचने वाले राजो मांझी के पुत्र टिक्को मांझी को पकड़ने गयी तेतरहट पुलिस को चकमा देकर टिक्को मांझी पांच लीटर शराब को छोड़कर फरार हो गया. जिसके बाद पुलिस उक्त शराब को जब्त कर थाना ले गयी. वहीं रात में पुलिस पूरी दल बल के साथ थानाध्यक्ष नरेश कुमार के नेतृत्व में छापेमारी करने झिनौरा गांव स्थित मुसहरी पहुंची तो मुसहरी एवं यादव टोला के बीच ग्रामीणों द्वारा चोर-चोर का शोर मचाते हुए पुलिस बल पर पथराव कर दिया गया, जिससे पुलिस वाहन बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया तथा उसमें सवार दो जवान मुकेश कुमार शर्मा एवं अजीत कुमार घायल हो गये. जिसके बाद पुलिस ने जबावी कार्रवाई करते हुए मुशहरी से पांच लोगों को गिरफ्तार किया. जिसमें दिलीप मांझी के दो पुत्र 23 वर्षीय सकलदेव कुमार एवं 20 वर्षीय सोहित कुमार, करुअन मांझी के पुत्र सूरज मांझी, कारू मांझी के पुत्र जितेंद्र मांझी एवं रामखेलावन मांझी के पुत्र बिल्टू मांझी शामिल हैं.

 

इधर, ग्रामीणों के अनुसार पुलिस ने भी गांव में प्रवेश कर लोगों के साथ मारपीट की थी, जिसमें कैलाश मांझी के पुत्र दिलीप मांझी व पुत्रवधू ओझा देवी के अलावा दिलीप मांझी की पुत्रवधू सह सकलदेव कुमार की गर्भवती पत्नी मधु कुमारी, स्व खेलो मांझी के पुत्र कारू मांझी एवं कारू मांझी की पत्नी डोमनी देवी के घायल होने की बात कही जा रही है. जिसको लेकर शनिवार को ग्रामीणों में आक्रोश देखा गया.

 

इस संबंध में तेतरहट थानाध्यक्ष नरेश कुमार ने बताया कि पुलिस के हाथों बच निकलने के बाद शराब विक्रेता टिक्को मांझी की खोज में शुक्रवार की रात को पुलिस मुसहरी गयी थी, जिसमें ग्रामीणों के द्वारा पुलिस पर पथराव किया गया. जिसमें उनके दो जवान घायल भी हो गये तथा उनकी वाहन भी क्षतिग्रस्त हो गया. जिसके बाद सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने के आरोप में पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया. ग्रामीणों द्वारा पुलिस पर मारपीट किये जाने के आरोप को थानाध्यक्ष ने नकारते हुए कहा कि पांचों लोगों को गिरफ्तार करने के दौरान हाथापायी जरूर हुई थी. उन्होंने बताया कि इस संबंध में दो प्राथमिकी दर्ज की गयी है, जिसमें एक शराब विक्रेता टिक्को मांझी के खिलाफ शराब बेचने को लेकर कांड संख्या 2/18 दर्ज किया गया है. दूसरा सरकारी कार्य में बाधा डालने को लेकर पांचों गिरफ्तार लोगों के साथ-साथ अन्य लोगों पर कांड संख्या 3/18 दर्ज किया गया है.

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *