वनवासी हिन्दू समाज के अंग, उसे तोड़ने की हो रही साजिश

वनवासी कल्याण आश्रम द्वारा रविवार को एक दिवसीय जनजाति जिला सम्मेलन का आयोजन शहर के शारदा पाठशाला मैदान में हुआ। सम्मेलन में जिलेभर के जनजातियों ने खाशी तादाद में भाग लिया। मौके पर आदिवासी समूह नृत्य और फुटबॉल प्रतियोगिता का आयोजन हुआ।वनवासी कल्याण आश्रम के प्रदेश अध्यक्ष परमेश्वर मुरमू तथा प्रांतीय हितरक्षा प्रमुख रामजी हेम्ब्रम ने दीप जलाकर कार्यक्रम की शुरुआत की।

 

परमेश्वर ने कहा कि वनवासी हिन्दू समाज के अंग हैं। कुछ देशद्रोही लोग जनजाति समाज को तोड़ने का षड़यंत्र रच रहे हैं जिससे सावधान रहने की उन्होने जनजातियों से अपील की। वहीं रामजी हेम्ब्रम ने वनवासी कल्याण आश्रम के औचित्य पर प्रकाश डाला। मंच संचालन प्रांत शिक्षा प्रमुख रितेश कुमार ने किया। कार्यक्रम के संयोजक सुसज्जन कुमार ने जिले में ईसाई मिशनरियों के षड़यंत्र को उजागर करते अंधविश्वास से दूर रहने की अपील की।इस अवसर पर जनजाति टीमों गोखुलपुर और मिर्घाचक तथा मानिकपुर और मकरनपुर के बीच सेमीफाइनल फुटबॉल मैच खेला गया। उसके बाद गोखुलपुर और मानिकपुर के बीच फाइनल मुकाबला हुआ जिसमें गोखुलपुर ने टायब्रेकर से मानिकपुर को हराकर विजेता बना।

 

वहीं जनजाति महिलाओं द्वारा सामुहिक नृत्य का आयोजन हुआ जिसमें कहलगांव के रतनपुर दियोरी को प्रथम और द्वितीय स्थान मथुरापुर संथाली टोला को मिला। विजेता टीमों को पुरस्कार दिये गये।कार्यक्रम आयोजन में मदन जी,अमित टेकरीवाल, संजीव तुलस्यान, सुशांत कुमार, संतोष चौधरी, सुरेन्द्र किस्कू, जितेन्द्र हेम्ब्रम, लालबिहारी मुरमू, शिवजी ऊरांव, चमकलाल सोरेन, करन मुरमू, संजय सोरेन आदि ने सक्रिय भूमिका निभाई।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *