शराब पीकर चला था हाथी को उठक-बैठक कराने, गंवानी पड़ी अपनी जान

बक्सर. शराब के नशे में धुत्त होकर महावत अपने हाथी को सजा देने चला था। वह हाथी के सामने जाकर खड़ा हो गया और उसे उठक-बैठक लगाने का हुक्म सुनाने लगा। हाथी अपने महावत के नशेड़ी होने की बात जानता था उसने कुछ देर तक उसके आदेश को अनसुना किया। महावत को यह मंजूर न था कि हाथी उसके कहने पर भी उठक-बैठक न लगाए। वह चिल्लाने लगा। इससे हाथी के सब्र का बांध टूट गया उसने महावत की हत्या कर दी। घटना सोमवार दोपहर को बिहार के बक्सर जिले के राजपुर थाना क्षेत्र के डिहरी में घटी।

उत्तर प्रदेश से शराब पीकर आया था महावत
– महावत झुन्ना शुक्ला उत्तर प्रदेश से झांसी का रहने वाला था। वह डिहरी में एक हाथी के महावत के रूप में काम करता था। शराबबंदी के चलते बिहार में दारू न मिली तो वह सोमवार को उत्तर प्रदेश गया और नशे में धुत्त होकर लौटा।
– शराब के नशे में वह हाथी से उठक-बैठक कराने की जिद करने लगा। हाथी को यह मंजूर न था। उसने अपने सूंड से महावत को पकड़ा और उठाकर जमीन पर पटक दिया। महावत जान बचाकर भाग पाता इससे पहले ही हाथी ने सिर और पेट पर पांव रखकर उसकी जान ले ली।

डर के मारे कोई नहीं आया बचाने
– झुन्ना हाथी पर चिल्ला रहा था तब गांव के कई लोग आसपास थे। लोगों के सामने हाथी ने उसे मौत के घाट उतार दिया। हाथी को गुस्से में देख कोई उसके पास जाने और झुन्ना को बचाने की हिम्मत न जुटा पाया।
– झुन्ना की मौत के बाद भी हाथी का गुस्सा शांत नहीं हुआ। उसने कई घंटों तक गांव के लोगों को झुन्ना का शव उठाने नहीं दिया। बाद में जब हाथी शांत हुआ तो शव को उसके पास से हटाया जा सका।
– सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *