Advertisements

शराब माफियाओं से मात खाने के बाद RPF जवानों ने ट्रेन में ड्यूटी से किया मना

स्थानीय आरपीएफ ने 13131 अप कोलकाता-पटना एक्सप्रेस ट्रेन में अपने जवानों की ड्यूटी से हाथ खींच लिया है। अब झाझा आरपीएफ के जवानों को बाढ़ तक की ड्यूटी के बजाय अपने पोस्ट के क्षेत्राधिकार वाले स्टेशन तक की ही आवाजाही करने को कहा गया है।
दरअसल ट्रेन में जवानों को शराब माफिया के हाथों खासी जलालत झेलने को मजबूर हो जाना पड़ा था। 29 नवंबर को उसका एक जवान शराब माफिया की पत्थरबाजी में जख्मी हो गया था जिसे इलाज को पटना रवाना करना पड़ा था। वहीं इसके एक दिन बाद ही एक दिसंबर को माफिया ने एक जवान को कट्टा सटाकर अवैध शराब की खेप उतार ली थी।
इस संबंध में झाझा आरपीएफ के सहायक सुरक्षा आयुक्त (एएससी) अमित गुंजन ने बताया कि कोलकाता-पटना एक्सप्रेस ट्रेन में उनके जवान ट्रेन एस्कॉर्ट ड्यूटी को नहीं बल्कि चेन पुलिंग रोकने को लेकर तैनात किए जाते थे। एएससी का भी मानना है कि ट्रेनों में सक्रिय छुटभैये बदमाशों और शराब माफिया के भी असलहों से लैस होने के मद्देनजर मात्र डंडों के सहारे अब चेन पुलिंग रोकना भी जवानों के लिए मुश्किल साबित हो रहा है।

उनके अनुसार मैनपावर की कमी की वजह से सभी ट्रेनों में पर्याप्त संख्या में जवानों की तैनाती मुमकिन नहीं हो पाती है। ऊपर से ट्रेनों में जिस आरपीएसएफ के जवानों की ड्यूटी लगाई जाती थी उस फोर्स की टुकड़ी विधानसभा चुनावों को लेकर फिलहाल दूसरे राज्यों की प्रतिनियुक्ति पर है।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *