Bihar Crime Muzaffarpur TOP NEWS

सरैया रेप पीड़िता मेडिकल जांच में डॉक्टर ने ऑफिस में पीड़िता को किया नंगा

मुजफ्फरपुर.  सरैया थाना इलाके की रेप पीड़िता किशोरी जब मेडिकल जांच के लिए गई तो उसे सदर अस्पताल में भी यौन हिंसा का शिकार होना पड़ा। आरोप है कि जांच के नाम पर डॉक्टर ने ऑफिस में ही सारे पुरुष स्टाफ के सामने उसे नंगा कर दिया। ऑफिस में लगे सीसीटीवी में नंगी किशोरी का वीडियो भी बना।

उसने कपड़ा उतारने में संकोच किया तो उसके साथ गाली-गलौज की गई। इतना ही नहीं उसकी जांच कराने पहुंची महिला पुलिस अधिकारी ने विरोध किया तो डॉक्टर उससे भी उलझ गईं। धमकी दी कि डॉक्टर के एसोसिएशन से पाला नहीं पड़ा है। वर्दी उतर जाएगी।

मामले की एफआईआर सदर अस्पताल की चिकित्सक डॉ. कृष्णा सिंह और अन्य के खिलाफ महिला थाने में दर्ज की गई है। एफआईआर में किशोरी की मां ने बयान दिया है कि बेटी को नंगा किए जाने का जब विरोध किया तो डाक्टरों ने धमकी दी कि अस्पताल में भर्ती कर दोनों मां-बेटी को रात भर परेशान किया जाएगा।

उधर, 23 सितंबर को एफआईआर होने के बाद 24 सितंबर को डॉक्टर की ओर से भी महिला थाने में आवेदन भेजा गया। डॉक्टर ने आरोप लगाया है कि 22 सितंबर को मेडिकल जांच के लिए लाई गई किशोरी की उसी वक्त मेडिकल रिपोर्ट मांगी गई। जब महिला दारोगा को बताया गया कि यह संभव नहीं है तो वह बकझक करने लगी। अभद्र व्यवहार करते हुए कार्य में बाधा डाली।

डॉक्टर ने यह आरोप भी लगाया कि जांच के लिए लाई गई रेप पीड़िता और उसकी मां मंद बुद्धि की है। दोनों को दारोगा ने डॉक्टर पर केस दर्ज कराने के लिए बरगलाया। महिला थानाध्यक्ष ज्योति कुमारी ने डॉक्टर के आवेदन को जांच के लिए रखा है।

मेडिकल जांच के लिए नगर थाने की पुलिस से भी हुई थी बकझक
रेप पीड़िता की मेडिकल जांच के लिए पिछले साल नगर थाने की पुलिस और सदर अस्पताल के डॉक्टर के बीच जमकर बकझक हुई थी। जमादार से विवाद शुरू हुआ तो नगर थाने के तत्कालीन थानाध्यक्ष केपी सिंह भी मौके पर पहुंचे। इसके बाद डॉक्टर और पुलिस अधिकारी ने एक-दूसरे को देख लेने तक की धमकी दी थी।

डॉक्टर और पुलिस के बीच गलतफहमी का यह मामला है। दोनों को आपस में मिल बैठकर विवाद को सुलझाना चाहिए। ताकि, यह विवाद खत्म हो सके और बेहतर ढंग से सरकारी कार्य का निष्पादन हो। 

डॉ. मेहंदी हसन, अधीक्षक, सदर अस्पताल।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *