BHAGALPUR

सिलिंडर विस्‍फोट : घटनास्थल से 147 सिलिंडर बरामद 11 भरे मिले, कई हो चुके हैं एक्सपायर

परबत्ती में शंकर गैस एजेंसी परिसर शांति विवाह भवन में सोमवार को हुई घटना की जांच प्रशासनिक स्तर से शुरू कर दी गयी है. सदर एसडीओ ने बताया कि मलबे के अंदर से सिलिंडर को निकाला जा रहा है. अभी तक 147 सिलिंडर निकाले जा चुके हैं. इसमें 11 भरे सिलिंडर मिले हैं. इस तरह शंकर गैस एजेंसी ने भंडारण के नियम को तोड़ा है.

 

उन पर आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत मामला दर्ज होगा. इंडियन ऑयल के क्षेत्रीय पदाधिकारी को भी पत्र लिखा गया है. पूछा गया कि आखिरी बार एजेंसी के गोदाम व कार्यालय का निरीक्षण कब किया गया और उसकी रिपोर्ट क्या थी. वह रिपोर्ट भी एजेंसी के खिलाफ कार्रवाई को लेकर अहम होगी. उसमें यह पता चलेगा कि निरीक्षण के समय एजेंसी व गोदाम में सिलिंडर की संख्या क्या थी.

 

निगम आयुक्त से विवाह भवन के कॉमर्शियल लीज व नक्शे की मांगी जानकारी

सदर एसडीओ ने कहा कि निगम आयुक्त से शांति विवाह भवन के कॉमर्शियल लीज के बारे में ब्योरा मांगा है. इसमें लीज लेने की तिथि से वहां के नक्शे आदि की जानकारी मांगी गयी है. लीज को लेकर नक्शा भी निगम से पास करवाना होता है. उन्होंने कहा कि आगे की प्रक्रिया में शहर के अन्य विवाह भवन के भी लीज से लेकर उसके नक्शे आदि की जांच की जायेगी. इसमें उनके द्वारा पार्टी बुकिंग के समय मौके पर सिलिंडर की संख्या के बारे में भी पूछताछ होगी.

 

घटना के दूसरे दिन भी परबत्ती सिलिंडर विस्फोट की होती रही चर्चा

परबत्ती में सोमवार को हुए सिलिंडर विस्फोट हादसे के दूसरे दिन भी पूरे इलाके में चर्चाओं का बाजार गर्म रहा. कोई विस्फोट से हुए नुकसान की भयावहता को देख एक से अधिक एलपीजी सिलिंडर विस्फोट होने की बात कहता नजर आया तो कोई रिफिलिंग के दौरान हुए हादसे की बात कहता दिखा. इलाके के लोगों का कहना था कि विस्फोट स्थल से करीब एक सौ मीटर की दूरी तक मलबे के टुकड़े फैले हुए हैं.

 

वहीं स्थल से पचास मीटर दूर मौजूद घरों की दीवार को भेदकर मलबों के अवशेष कमरों और घरों के भीतर जा घुसे हैं. लोगों का कहना था कि कुछ घायलों ने बताया कि जिस वक्त विवाह भवन के गार्डेन एरिया में शादी समारोह से पहले पकवान तैयार कराए जा रहे थे उसी जगह बेसमेंट में जहां अवैध सिलिंडर गोदाम मौजूद थी वहां एजेंसी में ही काम करने वाला एक युवक अवैध रिफिलिंग का काम कर रहा था. इसी दौरान मौजूद सिलिंडर में आग लग गयी. इसी क्रम में विस्फोट हो गया. इसके अलावा लोगों में यह भी चर्चा थी कि खाना बनाने के दौरान हादसा हुआ है.

 

मलबा हटाने के काम में जुटा एसडीआरएफ, मिला एक्सपायर सिलिंडर

भागलपुर. परबत्ती स्थित सिलिंडर विस्फोट के घटनास्थल पर मलबे के अंदर से कई सिलिंडर निकाले गये. इस काम में एसडीआरएफ की टीम को भी लगाया गया है. निकाले गये सिलिंडर में कई सिलिंडर एक्सपायर मिले. एसडीआरएफ कमांडर गणेशजी ओझा ने बताया कि कई सिलिंडर एक्सपायर हैं. जब सारे सिलिंडर मलबे के अंदर से निकाल लिये जायेंगे, तभी पता चल सकेगा कि कितना सिलिंडर ठीक है और कितना एक्सपायर. उन्होंने बताया कि अभी तक करीब 23 अग्निशमन संयंत्र निकाले गये हैं, इनमें अधिकतर में रिफिलिंग हुआ ही नहीं है. उसके मीटर की सूई रेड सिग्नल पर टिकी है.

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *