सांपों के जहर को शरीर में उतारकर लोग हैप्पी न्यू इयर भी सेलिब्रेट करते हैं ये जानकर आपकी सांस भले ही थमने लगे और विश्वास नहीं हो लेकिन ये सच है और इसका खुलासा किया है सांपों से जहर निकाल कर बेचने वाले तस्करों ने.

बिहार के सीमांचल जोन से ये तस्करी चीन और थाईलैंड के लिए होती है और पिछले दो सालों में तीन बार इस गलत धंधे में शामिल लोग पकड़े गए हैं. बीते दिनों किशनगंज में बीएसएफ को बड़ी कामयाबी मिली है.

बीएसएफ की 146 वीं बटालियन की ख़ुफिया विभाग ने बंगाल के रसाखुआ-धनतोला रोड पर वाहन चेकिंग के दौरान गुप्त सूचना के आधार पर तीन आदमी को बाइक से जाते पकड़ा. उनके पास से सुरक्षाबलों को एक किलो 870 ग्राम सर्पविष (स्नेक वेनम पाउडर) जहर मिला.

तीनो तस्करों में एक बंगाल के उत्तर दिनाजपुर एवं दो पूर्णिया के रहने वाले हैं. इस विष को पूर्णिया के गुलाबबाग से ही किसी ने उन्हें बंगाल सीमा लांघकर ले जाने का टास्क दिया गया था. जब्त सर्पविष की कीमत अंतरराष्ट्रीय दवा बाजार में 14 करोड़ आंकी गई है.

अधिकारियों ने बताया कि इसके पहले भी दो बार पूर्णिया और किशनगंज में सांपों के विष के तस्कर दो बार पकड़े जा चुके हैं.

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *