युवा राजद के राजभवन मार्च के दौरान कार्यकर्ताओं पर पुलिस लाठीचार्ज का आरोप लगाते हुए नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने राज्य सरकार को तानाशाह करार दिया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कहने पर ही शांतिपूर्ण तरीके से राजभवन मार्च कर रहे राजद कार्यकर्ताओं पर बल प्रयोग किया गया।

तेजस्वी ने कहा कि सृजन घोटाले से चेहरा बचाने के लिए नीतीश कुमार प्रशासन के जरिए डरा रहे हैं। उनकी तानाशाही से राजद के कार्यकर्ता डरने वाले नहीं हैं।

तेजस्वी ने नीतीश के सृजन घोटाले में संलिप्त रहने का आरोप लगाया और कहा कि अगर वह भागीदार नहीं हैं तो लोकतांत्रिक आंदोलन से क्यों डर रहे हैं। राजद के राजभवन मार्च को तेजस्वी ने लोहिया से जोड़ा और कहा कि उनकी पुण्यतिथि पर समाजवादी कार्यकर्ताओं को पुलिस ने बर्बरतापूर्वक पीटा।

पूरा देश जानता है कि सृजन में बेदाग निकलने के मकसद से ही नीतीश भाजपा के पाले में चले गए हैं। युवाओं पर लाठीचार्ज ही नीतीश की उपलब्धि है। तेजस्वी ने राजभवन पर भी निशाना साधा और कहा कि नीतीश के कहने पर ही किसी पदाधिकारी ने राजद का ज्ञापन नहीं लिया। यह लोकतांत्रिक मूल्यों के खिलाफ है।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *