सोनिया के सियासी डिनर में शामिल हुए 20 दल के नेता, मांझी-मरांडी से लेकर शरद तक पहुंचे- निशाने पर मोदी सरकार

सोनिया के सियासी डिनर में शामिल हुए 20 दल के नेता, मांझी-मरांडी से लेकर शरद तक पहुंचे- निशाने पर मोदी सरकार

13th March 2018 0 By Kumar Aditya

संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी ने वर्ष 2019 के आम चुनाव से पहले भाजपा नीत राजग के विरुद्ध व्यापक मोर्चा बनाने के लिए अपने आवास पर डिनर पार्टी का आयोजन किया. जिसमें माकपा, भाकपा तृणमूल कांग्रेस, बसपा, सपा, जदएस, राजद सहित 20 विपक्षी दलों के नेताओं ने हिस्सा लिया.

कांग्रेस प्रवक्‍ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि सोनिया गांधी जी की मेजबानी में आयोजित रात्रिभोज को राजनीति के चश्मे से नहीं देखा जाना चाहिए. इस भोज का आयोजन विपक्षी दलों के बीच दोस्ती और बेहतर संवाद के लिए रखा गया है.

इस मौके पर भी सुरजेवाला ने नरेंद्र मोदी सरकार पर हमला बोला. उन्‍होंने कहा, आज देश में भय और बेरोजगारी का माहौल है. एक तरफ नीरव मोदी, ललीत मोदी जैसे लोग देश का पैसा लूट कर विदेश भाग जा रहे हैं और दूसरी ओर हजारों-लाखों किसान अपनी मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे हैं, लेकिन केंद्र सरकार उनकी अनदेखी कर रही है. संसद नहीं चल रहा है. संसद में अगर अतिरोध कायम है तो इसके लिए सरकार जिम्‍मेदार है. विपक्ष के सवालों का जवाब सरकार नहीं दे रही है.

सोनिया के आवास पर हुये इस रात्रिभोज में राकांपा के शरद पवार, सपा के रामगोपाल यादव, बसपा के सतीशचंद्र मिश्र, राजद से मीसा भारती और तेजस्वी यादव, माकपा से मोहम्मद सलीम, द्रमुक से कनिमोझी, और शरद यादव.

झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और झारखंड विकास मोर्चा के नेता बाबूलाल मरांडी, बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के प्रमुख जीतन राम मांझी, जम्‍मू-कश्मीर के पूर्व मुख्‍यमंत्री उमर अब्दुल्ला और एआईयूडीएफ के बद्रुद्दीन अजमल रात्रि भोज में पहुंचे. माना जा रहा है कि इस बैठक में विपक्षी एकता को लेकर बातचीत हुयी. सोनिया गांधी के इस रात्रिभोज को लोकसभा चुनाव में राजग के खिलाफ एक मजबूत मोर्चा खड़ा करने की कोशिश के रूप में देखा जा रहा है.

Advertisements