Bihar Patna State Technology TOP NEWS

354 रुपये में पाइपलाइन गैस कनेक्शन का कराएं रजिस्ट्रेशन

पटना : यदि आप रसोई गैस खत्म होने और उसके बाद सिलिंडर के इंतजार से मुक्ति चाहते हैं तो वह समय आ गया है। गेल ने पाइपलाइन से आपके रसोईघर तक गैस पहुंचाने के लिए रजिस्ट्रेशन करना शुरू कर दिया है। फिलहाल यह सुविधा राजधानी के फुलवारीशरीफ, जगदेवपथ, बेली रोड, सगुना मोड़ और गांधी मैदान क्षेत्र के लोगों को ही मिलेगी। पंजीयन कराने वालों के घर में अक्टूबर से गैस आपूर्ति शुरू हो जाएगी।

पंजीयन के बस ये करना है :

यदि आप उस क्षेत्र में रहते हैं जहां गेल पाइपलाइन प्राकृतिक गैस (पीएनजी) का कनेक्शन देने जा रही है तो पंजीयन के लिए तैयार हो जाएं। आपको पंजीयन के लिए आपको गेल इंडिया के नाम पर 354 रुपये का चेक या बैंक ड्राफ्ट जारी करना है। संबंधित क्षेत्रों में गेल इंडिया की मार्केटिंग टीम खुद संपर्क कर रही है।

कनेक्शन के लिए अपार्टमेंट से करार कर रही गेल :

गेल इंडिया की मार्केटिंग टीम ने राजधानी में कनेक्शन देने की प्रारंभिक कार्रवाई शुरू कर दी है। राम जयपाल नगर में जलालपुर सिटी, वेटेनरी कॉलेज में बीआइटी मेसरा परिसर के अलावा जगदेव पथ और बेली रोड क्षेत्र के अपार्टमेंट में एक साथ पाइपलाइन प्राकृतिक गैस कनेक्शन के लिए करार किए जा रहे हैं। रजिस्ट्रेशन के लिए अभी हर घर से गेल इंडिया के नाम 354 रुपये का बैंक ड्राफ्ट या चेक लिया जा रहा है। शेष 6000 रुपये अक्टूबर में कनेक्शन के समय देने होंगे।

अक्टूबर से पांच क्षेत्रों में होगी आपूर्ति :

पटना में करीब 3202 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में पाइपलाइन प्राकृतिक गैस (पीएनजी) की आपूर्ति करने की योजना है। जगदीशपुर-हल्दिया मुख्य पाइपलाइन से लिंक लाइन गया से नालंदा होते पटना आ रही है। नालंदा से एक लाइन बरौनी जा रही है। नालंदा जिले के सिलाव से पटना जिले के नौबतपुर तक पाइप का कनेक्शन पूरा हो गया है।

लीक होने पर भी नहीं लगेगी आग :

राजधानी में अब तक घरेलू व व्यावसायिक ईधन के रूप में लिक्वीफाइड पेट्रोलियम गैस (एलपीजी) का इस्तेमाल किया जा रहा है। एलपीजी हवा से भारी होने के कारण सिलिंडर अथवा किसी स्तर से लीक होने पर सतह में बैठ जाती है। वहीं पाइपलाइन प्राकृतिक गैस हवा से हल्की होने के कारण वायुमंडल की ओर उड़ती है। एलपीजी के भंडारण स्थल पर ग्राउंड वेंटिलेशन का रास्ता बनाया जाता है। यदि पीएनजी लीक होगी तो स्वत: वायुमंडल में घुलमिल जाएगी। इससे आग लगने के खतरे कम होंगे।

अन्य क्षेत्र के लोगों को करना होगा इंतजार :

गेल सूत्रों के अनुसार दूसरे चरण की शुरुआत पहला चरण पूरा होने के बाद की जाएगी। उसमें अभी समय लग सकता है।

अक्टूबर तक पटना में पीएनजी आपूर्ति शुरू करने की तैयारी चल रही है। इसके लिए कनेक्शन का करार और रजिस्ट्रेशन शुरू हो गया है। बीआइटी मेसरा परिसर, जलालपुर सिटी सहित अन्य अपार्टमेंट में करार किए गए हैं।

मो. गयूर आलम जहीरी,

मुख्य प्रबंधक, गेल इंडिया, पटना।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *