पटना. अररिया लोकसभा सीट के लिए उपचुनाव से पहले जदयू को झटका लगा है। जदयू विधायक मोहम्मद सरफराज आलम ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। सरफराज के आरजेडी में शामिल होने और पार्टी के टिकट से लोकसभा सीट के लिए उपचुनाव लड़ने की बात सामने आ रही है।

कौन हैं सरफराज?
सरफराज आलम दिवंगत सांसद मो. तस्लीमुद्दीन के बेटे हैं। वह जोकीहाट से जदयू विधायक थे। सरफराज आलम ने पिता को श्रद्धांजलि देने के बहाने पहले ही राजद के मंच से दावेदारी पेश कर दी थी। 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में आरजेडी के टिकट से दिवंगत नेता तस्लीमुद्दीन विजयी हुए थे। 17 सितंबर 2017 को तस्लीमुद्दीन का निधन हो गया था, जिसके चलते यह सीट खाली हो गई थी।

एक सप्ताह पहले बन गई थी बात
सरफराज के जदयू से अलग होकर आरजेडी में शामिल होने और पार्टी के टिकट से चुनाव लड़ने की चर्चा क्षेत्र में कई दिनों से चल रही थी। एक सप्ताह पहले इस संबंध में सरफराज आलम ने पटना में तेजस्वी यादव से मुलाकात की थी। इसी मुलाकत में सरफराज को आरजेडी से टिकट मिलना तय हो गया था। शुक्रवार को चुनाव आयोग ने 11 मार्च को वोटिंग और 14 मार्च को मतगणना की तारीख तय की। चुनाव की तारीख सामने आते ही सरफराज ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया।

यह तो शुरुआत है: तेजस्वी
सरफराज के इस्तीफा पर आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि यह तो शुरुआत है। आगे देखिए कैसे जदयू में भूचाल आता है। जदयू के अंदर काफी आक्रोश है। पार्टी के नेता नीतीश कुमार से अधिक आरसीपी सिंह से नाराज हैं। वह नेताओं को महत्व नहीं दे रहे हैं। आने वाले समय में जदयू में और भगदड़ मचेगी।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *