Advertisements

MJ अकबर ने केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री पद से दिया इस्तीफा।

केन्द्रीय राज्य मंत्री एम जे अकबर ने इस्तीफा दे दिया है। आपको बता दें कि मी टू कैंपेन के तहत एमजे अकबर पर लगे यौन शोषण के आरोप लगे थे। एमजे अकबर ने इस्तीफे के बाद जारी बयान में कहा है कि न्याय के लिए मैं कोर्ट जाऊंगा। मेरे ऊपर झूठे आरोप लगाए गए हैं जिसके चलते मैं अपने पद से इस्तीफ दे रहा हूं। मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का शुक्रगुजार हूं कि मुझे देश सेवा का मौका दिया। 

वहीं मंगलवार को एम जे अकबर द्वारा दायर मानहानि मामले की सुनवाई नहीं हो सकी। अदालत ने इस मामले में सुनवाई के लिए अगली तारीख 18 अक्तूबर तय की है। पटियाला हाउस अदालत में इस मामले में मंगलवार को सुनवाई होनी थी। लेकिन बाद में अदालत ने तय किया कि इस मामले को विस्तृत रुप से सुनने के लिए अगली तारीख दिया जाना उचित है। ज्ञात रहे कि केन्द्रीय मंत्री एम जे अकबर ने अपने ऊपर लगे यौन शोषण के आरोपों के खिलाफ  पत्रकार प्रिया रमानी के खिलाफ मानहानि याचिका दायर की है।

विदेश राज्यमंत्री अकबर ने रमानी पर जानबूझकर और दुर्भावनापूर्ण तरीके से उन्हें बदनाम करने का आरोप लगाया है। साथ ही उन्होंने पत्रकार के खिलाफ मानहानि से जुड़े दंडात्मक प्रावधान के तहत मुकदमा चलाने का अनुरोध किया है। दुनिया भर में यौन शोषण के खिलाफ शुरू हुए ”मी टू अभियान ने हाल ही में भारत में जोर पकड़ा है और एक के बाद एक कई क्षेत्रों से जुड़े लोगों के खिलाफ कथित यौन शोषण के मामले सामने आए हैं। इसी कड़ी में प्रिया रमानी ने केन्द्रीय मंत्री पर सोशल मीडिया पर आरोप लगाए थे।
 

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *